लोकल, परेशान यात्री और रेलवे का ढुलमुल रवैया

 Pali Hill
लोकल, परेशान यात्री और रेलवे का ढुलमुल रवैया
लोकल, परेशान यात्री और रेलवे का ढुलमुल रवैया
लोकल, परेशान यात्री और रेलवे का ढुलमुल रवैया
See all

मुंबई – टिटवाला से मुंबई की ओर जाने वाली लोकल सुबह 5 बजे ना आने से हड़कंप मच गया। आसनगांव में कुछ तकनीकि खराबी के कारण लोकल सेवा बाधित रही। लोकल की समस्या को देख ऑफिस में काम करने वाले और स्कूली स्टुडेंट ने ड्यूटी पर तैनात रेलवे कर्मचारियों से मेल-एक्स्प्रेस गाड़ियों में यात्रा करने की विनती की। पर इस पर तत्काल कार्रवाई नहीं की गई। दो मेल-एक्स्प्रेस ट्रेन सामने से गुजरने के बाद यात्री गुस्से से उबलने लगे। इस पर स्टेशन में ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी ने कहा कि अगर आप लोगों को लेट होता है तो पहले वाली ट्रेन से निकल जाते। जिसके बाद सारे यात्री रेलवे पटरी पर उतर गए, और आंदोलन करने लगे। जब इसकी खबर रेलवे के मुख्यालय तक पहुंची तब जाकर रेलवे की नींद उड़ी। उसके बाद के-3 रेलवे प्रवासी संगठन के स्टेशन प्रतिनिधी विवेकानंद कानिटकर और ट्रेजरर केतन कान्हेरे ने मदद शुरु की। अगर इस तरह से दोबारा होता है तो मेल-एक्स्प्रेस गाड़ियों को रुकने दिया जाए और उसमें यात्रा करने की अनुमति दी जाए, किसी तरह की दखलंदाजी और गैरजिम्मेदाराना उत्तर ना दिया जाए। इन मांगों को कर्मचारियों ने लिखित में स्वीकार किया, जिसके बाद आंदोलन को पीछे लिया गया।

Loading Comments