आंकड़ों का 'टोलझोल'

    Mumbai
    आंकड़ों का 'टोलझोल'
    मुंबई  -  

    मुंबई-पुणे एक्सप्रेस हाइवे पर टोल के नाम पर रोज एक नया खुलासा देखने को मिल रहा है। एक्सप्रेस हाइवे से हर रोज 30 हजार वाहन टोल दिये बिना ही गुजरती हैं। जिसकी जानकारी महाराष्ट्र राज्य रास्ता विकास महामंडल (एमएसआरडीसी) ने दी है। टोल संबंधित संकेत स्थल पर दिये गए आकड़ों से ये बात सामने आई है।

    यह भी पढ़े- बांद्रा - वर्ली सी लिंक टोल वसूली के लिए तीसरी बार बढ़ी आवेदन की तिथी


    हालांकि इन आकड़ों को लेकर टोल विशेषज्ञों का मानना है कि टोल वसूली की रकम को छुपाने के लिए ठेकेदार और एमएसआरडीसी ने आंकड़ों में हेराफेरी की है। मुख्य सूचना आयुक्त के आदेश के अनुसार हर महीने टोल वसूली के आंकड़े संकेतस्थल पर लोगों को बताए जाते हैं। नवंबर 2016 तक टोल नाकों से 289 करोड़ रुपए की वसूली की गई। जिसके बाद कई टोल विशेषज्ञों ने टोलनाका बंद करने की मांग की है।

    यह भी पढ़े -मुंबई-पुणे के लिए देना होगा अब अधिक टोल


    एक आंकड़े के मुताबिक 1 अप्रैल को 29788 तो वहीं 2 अप्रैल को 30212 गाड़ियों ने टोल नहीं भरा, जिसमें चार पहियों से लेकर भारी गाड़ियां भी शामिल हैं। टोल विशेषज्ञ विवेक वेलणकर का कहना है कि टोल नाके पर पुलिस की टीम होती है, सीसीटीवी होती है, टोल नाके के कर्मचारी होते हैं। इसके बावजूद अगर इतने लोग टोल नहीं भरते तो इसपर एक बच्चा भी भरोसा नहीं कर सकता है।

    यह भी पढ़े- जाने क्या है टोल का झोल !

    जब इस बारे में एमएसआरडीसी के व्यवस्थापकीय संचालक राधेश्याम मोपलवार से बात करने की कोशिश की गई तो वह अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए उपलब्ध नहीं थे।

    Loading Comments

    संबंधित ख़बरें

    © 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.