'फ़ोकट' यात्रियों से बढ़ रहा रेलवे का खजाना


SHARE

पश्चिम रेलवे में दिनों दिन मुफ्त में यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। साथ ही अपना टिकट दुसरे को देने वाले यात्रियों की संख्या में भी वृद्धि हो रही है। तो ऐसे लोगों के खिलाफ रेलवे ने अक्टूबर महीने में एक मुहीम चलाया था। इन यात्रियों के खिलाफ कार्रवाई की गयी और जुर्माना ठोका गया।

रेलवे ने की कमाई

पश्चिम रेलवे को इस मुहिम के जरिये लगभग 12.35 करोड़ रूपये की आय हुई, साथ ही 2.64 लाख केस भी दर्ज किया।

'फुकट' यात्रियों की संख्या में वृद्धि

अगर अक्टूबर 2016 के मुकाबले अक्टूबर 2017 महीने की बात करें तो रेलवे में मुफ्त यात्रा करने वाले यात्रियों में 12.4 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है। यही नहीं इस मुहीम के अंतर्गत 825 भिखारियों और अवैध फेरीवालों को भी रेलवे परिसर से बाहर निकाला गया, साथ ही आपराधिक गतिविधयों के चलते 153 लोगों को जेल भी भेजा गया।

दलाल और संदिग्ध भी निशाने पर

इसके अलावा पश्चिम रेलवे ने अपनी मुहीम में टिकटों कालाबाजारी करने वाले दलालों और अन्य संदिग्ध कार्यों में संलिप्त लगभग 151 लोगों के खिलाफ रेलवे ने केस दर्ज किया। साथ ही 12 साल के कम उम्र के लगभग 45 बच्चों को भी पकड़ा गया जो महिला डिब्बे में यात्रा कर रहे थे।

रेलवे ने किया अनुरोध

पश्चिम रेलवे ने यात्रियों से अनुरोध किया है कि वे बिना टिकट यात्रा न करें क्योंकि यह एक अपराध है। रेलवे की तरफ से इसे रोकने के लिए एक विशेष मुहीम चलाई जा रही है।



संबंधित विषय
ताजा ख़बरें