Advertisement

भीड़ को समायोजित करने के लिए अंधेरी स्टेशन से स्टॉल्स किये जाएंगे स्थान्तरित

पश्चिम रेलवे यात्रियों की सुरक्षा के लिए स्टेशन के डेक पर भोजन और अन्य वस्तुओं को स्थानांतरित करने और उन्हें स्थान देने पर विचार कर रहा है।

भीड़ को समायोजित करने के लिए अंधेरी स्टेशन से स्टॉल्स किये जाएंगे स्थान्तरित
SHARES

अंधेरी रेलवे स्टेशन (andheri railway station) पर यात्रियो की बढ़ती भीड़ और स्टॉल की अधिकता को देखते हुए पश्चिम रेलवे (Western railway) ने स्थित सभी स्टॉल्स (stall) को स्टेशन से सटे डेक पर स्थान्तरित करने का निर्णय लिया है। स्टॉल्स की अधिक संख्या के कारण यात्रियो को खुली जगह नहीं मिल पाती और वे यहां वहां भीड़ के रूप में खड़े नजर आते हैं।

विरार (virar) से लेकर चर्चगेट (churchgate) तक सैकड़ों की संख्या में ट्रेनें अंधेरी स्टेशन से होकर गुजरती हैं। साथ ही अंधेरी स्टेशन से छूटने वाली ट्रेनों की संख्या भी अधिक है। हार्बर (harbour) की तरफ जाने वाले भी लोग यहां से ट्रेंन पकड़ते हैं। नतीजतन, इस स्टेशन में एक दिन में लाखों यात्री आवागमन करते हैं। जिससे काफी भीड़ जुटती है। और जगह की कमी पड़ जाती है।

इसके अलावा अंधेरी स्टेशन में फूड स्टॉल (food stall) सहित अन्य स्टॉल की संख्या भी काफी हैं। इसलिए स्टेशन से बाहर जाते समय ट्रेंन में चढ़ते और उतरते समय भीड़ काफी जुट जाती है, जिससे किसी दुर्घटना की आशंका जन्म लेती है।

यात्री भीड़ बढ़ने और स्टालों की संख्या के कारण यात्रियों को अंधेरे स्टेशन में घूमना मुश्किल हो गया है। पश्चिम रेलवे यात्रियों की सुरक्षा के लिए स्टेशन के डेक पर भोजन और अन्य वस्तुओं को स्थानांतरित करने और उन्हें स्थान देने पर विचार कर रहा है।

रेलवे अधिकारियों ने उम्मीद जताई है कि, स्टॉल्स को डेक पर स्थान्तरित करने के बाद यात्रीयों को खुली जगह मिलेगी और वे आराम से खड़े हो सकेंगे।

बता दें कि साल 2017 में जगह की कमी और भीड़ की अधिकता की वजह से ही पश्चिम रेलवे के प्रभादेवी स्टेशन (तब एलफिन्स्टन) में भगदड़ मच गई थी, जिसमें 14 लोगों की मौत हो गई थी।

तब से पश्चिम रेलवे सभी स्टेशनों पर भीड़ नियंत्रण और नियोजन का कार्य करने का निर्णय लिया था। नियोजन इस तरह से किया जा रहा है कि स्टेशन में आने और जाने वाले यात्रियों के लिए काफी जगह उपलब्ध हो।

अंधेरी स्टेशन सेे सटकर ही साल 2013 में ऑटो वालों के लिए डेक बनाया गया था, जो 60 मीटर लंबा और 34 मीटर चौड़ा था। इस डेक पर दो लेन हैं। रेलवे प्रशासन ने कहा कि उन्हें जगह दी जाएगी।  बहुत से लोग अंधेरी स्टेशन पर उतरते हैं और मेट्रो पकड़ने जाते हैं। इसीलिए पिछले कुछ वर्षों में इस स्टेशन पर यात्रियों की संख्या में वृद्धि हुई है।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें