समिति अध्यक्षों पर सभागृह नेता की ‘दबंगगिरी’

 Mumbai
समिति अध्यक्षों पर सभागृह नेता की ‘दबंगगिरी’

बीएमसी सदन के नेता यशवंत जाधव विभिन्न नागरिक समितियों के अध्यक्षों को नियंत्रण में करने की कोशिश कर रहे हैं। बीएमसी समितियों के प्रमुखों को उन्होंने अपने अधीन क्षेत्रों का निरीक्षण करने व उनके निष्कर्षों की रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। इस तरह का प्रश्न जाधव के इस दबंग कदम को लेकर उठाया जा रहा है।

सिविक बॉडी में एक चर्चा है कि यशवंत जाधव स्थायी समिति, सुधार समिति, बेस्ट समिति, शिक्षा समिति, स्वास्थ्य समिति, कानूनी समिति आदि के अधिकार क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं के तहत काम के निरीक्षण करने का निर्देश उनके संबंधित समितियों के अध्यक्षों को दिया है साथ ही अपने निष्कर्षों की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए भी कहा। जाधव अभी तक अपनी पार्टी के नए नगरसेवकों के साथ ट्यूनिंग नहीं बना पाए हैं। वह लगातार पार्टी आकाओं के मार्गदर्शन के अनुसार काम कर रहे हैं ।

इस बीच, यह सामने आया है कि यशवंत जाधव बीएमसी मुख्यालय में 11 बजे तक काम करते हैं। उनका कहना है कि उन्होंने विभिन्न विषयों का गहराई से अध्ययन करने का फैसला किया है और इसलिए वह रात में देर से काम करते हैं। आम तौर पर, बीएमसी कर्मचारी लगभग 6 बजे तक कार्यालय छोड़ देते हैं या फिर ज्यादा से ज्यादा 8-9 बजे तक अपने घर चले जाते हैं।

Loading Comments