अगर आप हैं बर्फ खाने के शौकीन तो पढ़े यह रिपोर्ट!

 Bandra East
अगर आप हैं बर्फ खाने के शौकीन तो पढ़े यह रिपोर्ट!
अगर आप हैं बर्फ खाने के शौकीन तो पढ़े यह रिपोर्ट!
अगर आप हैं बर्फ खाने के शौकीन तो पढ़े यह रिपोर्ट!
अगर आप हैं बर्फ खाने के शौकीन तो पढ़े यह रिपोर्ट!
See all

गर्मी के मौसम में बर्फ खाना किसे अच्छा नहीं लगता है, लेकिन अगर आप या आपके परिवार का कोई भी परिजन बर्फ खा रहा है तो पहले यह रिपोर्ट पढ़ लें, क्योंकि इस रिपोर्ट के पढ़ने के बाद शायद है कि आप बर्फ खाने का अपना इरादा बदल दें। आप को बता दें कि इस समय मुंबई सहित राज्य भर में एफडीए (महाराष्ट्र खाद्य एवं दवा प्रशासन) की कार्रवाई इन बर्फ वालों के खिलाफ शुरू है। एफडीए के सहायुक्त सुरेश देशमुख ने बताया की एफडीए वालो ने ठाणे में शनिवार और रविवार दो दिन कार्रवाई की। इन दो दिनों में इन्होने 15 दूषित बर्फ के नमूने लेकर करीब 10 हजार किलो बर्फ नष्ट किया। देशमुख के स्पष्ट किया कि एफडीए की यह कार्रवाई भी भी आने वाले समय में जारी रहेगी। एफडीए ने दूषित सभी बर्फ विक्रेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया।

अब सवाल यह उठता है कि क्या दूषित बर्फ केवल ठाणे में ही मिल रही है, मुंबई में क्या इस तरह की कोई शिकायत नहीं है। एक रिपोर्ट के अनुसार एफडीए ने मुंबई में दूषित बर्फ के केवल 5 नमूने ही लिए हैं जिसमें से उन्हें कुछ भी दूषित नहीं मिला है।

यह भी पढ़े : चायनीज में अजिनोमोटो बंद करने को लेकर साफ दिख रही एफडीए की लापरवाही

कुछ दिन पहले आरटीआई कार्यकर्ता आरपीवाई राव ने एफडीए से एक शिकायत में कहा था कि मछली और शवों को रखने में जो बर्फ उपयोग में लाई जा रही है उसी बर्फ को सस्ते दामों में बर्फ और ठंडे पेय बेचने वाले खरीद कर उसकी मिलावट खाद्य पदार्थो में कर बेच रहे हैं। राव एफडीए की ठंडे रवैये से नाराज नजर आते हैं। उनका कहना है कि रास्तो में ठंडे पेय बेचने वाले लोग मुंबईकरों के स्वास्थ्य से खेल रहे हैं बावजूद इसके एफडीए कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

राव आगे शिकायत करते हुए कहते हैं कि फ़ूड सेफ्टी एंड स्टैण्डर्ड अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (एफएफएसएआइ) द्वारा बनाये गये नियम के अनुसार खाद्य पदार्थों के स्टोरेज के लिए बर्फ का इस्तेमाल किया जाता है और इस बर्फ को बड़ी बड़ी कंपनियों से ख़रीदा जाता है, लेकिन इन नियमों की खुलेआम धज्जियाँ उड़ाई जा रही हैं। लोग खाद्य पदार्थों का स्टोरेज करने के लिए सस्ते और दूषित बर्फ में करते हैं। बर्फ का यह गोरखधंदा राज्य भर में चालू है। लेकिन जिन सरकारी मशीनरियों को इस पर लगाम लगानी चाहिए वे मशीनरियां लापरवाही बरत रही हैं।
राव ने मांग करते हुए कहा कि एफडीए को तुरंत बर्फ कंपनियों और रास्तों में बिकने वाले स्टाल पर छापा मार कर ऐसे दूषित बफ को नष्ट करना चाहिए।

दूषित बर्फ के बारे में एफडीए के सहायुक्त सुरेश अन्नपुरे से जब मुंबई लाइव के संवाददाता ने पूछा तो उन्होंने कहा कि कुछ दूषित बर्फ के नमूने लिए गये हैं जिनकी जांच हो रही है अगर कुछ गलत आता है तो हम जरुर कार्रवाई करेंगे।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

Loading Comments