अब हिंदी में भी मिलेगी सुप्रीम कोर्ट के फैसले की कॉपी

हिंदी के साथ साथ राजकिय भाषाओं में भी फैसले की कॉपी उपलब्ध होगी

SHARE

आज की तारीख में एक आम आदमी कोर्ट में जाने से काफी बचता है , क्योकी एक तो कोर्ट की लंबी लंबी तारीखे और उसके उपर से कोर्ट के कामकाज की भाषा।  कई बार लोगों को कोर्ट के कामकाज की भाषा की जानकारी ना होने के कारण उन्हे कोर्ट के कई बार चक्कर लगाने पड़ते है। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने इस ओर एक अहम कदम उठाया है। सुप्रीम कोर्ट ने अब अंग्रेजी के साथ साथ हिंदी और अन्य राजकिय भाषाओं में भी कोर्ट के फैसले की कॉपी उपलब्ध कराने का आदेश दिया है। जिसके बाद अब महाराष्ट्र में सुप्रीम कोर्ट के आदेशो की कॉपी अब मराठी में भी मिलेगी।


अभी तक सुप्रीम कोर्ट में सिर्फ अंग्रेजी भाषा में ही फैसले की कॉपी दी जाती है, लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद अब मराठी के साथ साथ हिंदी, कन्नड, आसामी, उडिया, तुलुगू जैसी कई भाषाओं में फैसले की कॉपी उपलब्ध होगी।  


कई सालों से हो रही थी मांग 

पिछलें कई सालों से सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के फैसले की कॉपियों को हिंदी के साथ साथ राजकिय भाषाओं में भी उपलब्ध कराने की मांग हो रही थी। अंत में कोर्ट ने इस मांग पर गौर करते हुए सुप्रीम कोर्ट के सभी फैसले की कॉपी को अंग्रेजी और हिंदी के साथ साथ सभी राजकिय भाषाओं में उपलब्ध कराने का आदेश दिया है। 

इस महिने के आखिरी तक हो सकता है शुरु

जुलाई महिने के अंत तक  हिंदी के साथ साथ मराठी और अन्य राजकिय भाषाओं में कोर्ट के फैसले के कॉपी उपलब्ध हो सकती है। शुरुआत में 500 पन्ने और विस्तृत फैसले की संक्षिप्त कॉपी उपबल्ध कर दी जाएगी।  

यह भी पढ़ेभारी भीड़ के कारण ट्रेन से गिरकर घायल हुए तीन यात्री

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें