मुंबई में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या 13 तक पहुंची

 Mumbai
मुंबई में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या 13 तक पहुंची

मुंबई में अप्रैल महीने में स्वाइन फ्लू के 4 मरीज सामने आए हैं, जिससे मंगलवार तक कुल स्वाइन फ्लू मरीजों की संख्या बढ़कर13 पर पहुंच गई। 2015 में मुंबई में स्वाइन फ्लू के 3,029 मरीजों की संख्या दर्ज की गई थी। जिसमें 30 से अधिक लोगों ने अपनी जान गंवाई थी। इसकी रोकथाम के लिए उपाय योजना के चलते 2016 में स्वाइन फ्लू के प्रभाव में कमी आई, लेकिन इसबार साल के शुरूआत में ही स्वाइन फ्लू ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। दादर, परेल, लालबाग और भायखला जैसे इलाकों में अभी तक मरीजों की संख्या ज्यादा देखी जा रही है।

पालिका के साथरोग नियंत्रण विभाग प्रमुख डॉ. मिनी खेत्रपाल इससे बचाव के लिए यह तरीके अपनाने की सलाह दे रही हैं-


  1. इस बीमारी से बचने के लिए हाइजीन का खासतौर पर ध्यान रखना चाहिए, खांसते समय और झींकते समय टीशू से कवर रखें, इसके बाद टीशू को नष्ट कर दें।
  2. बाहर से आकर हाथों को साबुन से अच्छे से धोएं और एल्कोहल बेस्ड सेनिटाइजर का इस्तेमाल करें।
  3. जिन लोगों में स्वाइन फ्लू के लक्षण हों तो उन्हें मास्क पहनना चाहिए और घर में ही रहना चाहिए।
  4. स्वाइन फ्लू के लक्षण वाले मरीज से क्लोज कॉंटेक्ट से बचें, हाथ मिलाने से बचें. रेग्यूलर ब्रेक पर हाथ धोते रहें।
  5. जिन लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही हो और तीन-चार दिन से हाई फीवर हो, उन्हें तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।
  6. स्वाइन फ्लू के टेस्ट के लिए गले और नाक के द्रव्यों का टेस्ट होता है जिससे एच1एन1 वायरस की पहचान की जाती है,ऐसा कोई भी टेस्ट डॉक्टर की सलाह के बाद ही करवाएं।
Loading Comments