तारापोरवाला एक्वेरियम में जलीय जंतुओं के साथ हो रहा है खिलवाड़

 Girgaon
तारापोरवाला एक्वेरियम में जलीय जंतुओं के साथ हो रहा है खिलवाड़
तारापोरवाला एक्वेरियम में जलीय जंतुओं के साथ हो रहा है खिलवाड़
See all

मुंबई का सबसे पुराना और फेमस तारापोरवाला एक्वेरियम हमेशा से ही लोगों के आकर्षण का केंद्र रहा है। मरीन ड्राइव में ठीक समुद्र के सामने ही इस एक्वेरियम की भव्य इमारत स्थित है। यह इमारत तो बाहर से काफी अच्छा दिखता है लेकिन अंदर की दास्ताँ कुछ और हाल ही बयाँ करती है। पिछले दो सालों से मरम्मत न होने के कारण यह एक्वेरियम दुर्दशा का शिकार हो गया है।

इस एक्वेरियम में जलीय जंतुओं को जिस टैंक में रखा गया है उसकी दीवारें ख़राब हो चुकी हैं। दीवारें के पेंट के रंग उतर कर पानी में मिल रहे हैं जो जंतुओं के लिए खतरनाक हो सकता है। दो साल पहले करोड़ो रुपए खर्च करके मरम्मत का कार्य किया गया था लेकिन जिस तरह से दीवार ख़राब हो रहे हैं मरम्मत के कार्य पर सवाल उठने लगे हैं, बावजूद इसके एक्वेरियम प्रशासन इन सबकी तरफ से आँखें मूंदे हुआ है।

एक्वेरियम के रखरखाव के लिए एनिमल्स वेल्फेअर सोसायटीचे के सचिव सुनिश कुंजू ने बुधवार को पशु पलान मंत्री महादेव जानकर से मुलाक़ात कर उनसे शिकायत की।  इस एक्वेरियम में 200 से अधिक प्रजाति की मछलियाँ है, जिनमें 100 से अधिक प्रजाति की मछलियों को विदेशो से मंगाया गया है। इन मछलियों को देखने के लिए पर्यटकों की भीड़ लगती है बावजूद इसके इमारत की दुर्दशा का कोई इंतजाम नहीं किया जा रहा है।


सुनिश कुंजू का कहना है कि एक्वेरियम प्रशासन ने एक ही टैंक में दो अलग अलग प्रजाति के जंतुओं को रखती है। कुंजू ने आरोप लगाया कि दीवारों में आयल पेंट का प्रयोग किया गया है जो की जंतुओं के लिए खतरनाक है। - सुनीश कुंजू, सचिव, एनिमल्स वेलफेयर सोसायटी


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

 

Loading Comments