'टक टक गिरोह' से सावधान..

बोरिवली पुलिस ने इस गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है।

SHARE

व्यापारियों के महंगे फोन, पैसे लुटने वाला एक गिरोह मुंबई में पिछलें काफी दिनों से सक्रिय है। कार की कांच पर टकटक की आवाज कर गाड़ी के मालिक का ध्यान भटकना और फिर पिछलें दरवादे से उसगें महंगे सामान को गाड़ी से चोरी करना इस गिरोह के बाये हाथ का काम है। बोरिवली पुलिस ने इस गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है।


'ऑईल' माफिया का पर्दाफाश , टैंकर के नीचे पाइप लगाकर करते थे चोरी!


कैसे पड़ा टक टक गैंग का नाम

दरअसल एक गिरोह के सदस्य ट्रैफिक में फंसी गाड़ियों के मालिको का ध्यान भटकाते है । ये गिरोह हमेशा दो से तीन सदस्यों के साथ काम करता है। ट्रैफिक में फंसी गाड़ियों के कांच पर एक शख्स टकटक करके गाड़ी के मालिक का ध्यान भटकाता है तो वही दूसरी ओर जब गाड़ी के मालिक का ध्यान भटक जाता है तो गिरोह का दूसरा शख्स गाड़ी से किमती सामान लेकर फरार हो जाता है , इसलिए इस गिरोह का नाम टकटक गिरोह पड़ा है।


जालसाजी करके एक भाजीवाला बन गया करोड़पति, अब खा रहा जेल की हवा

क्या है मामला

बोरिवली इलाके में रहने वाले किरण मवाना गुरुवार सुबह सुबह बोरिवली के आरएम भटाड रोट पर एक सिग्नल पर रुके थे। किरण की कार के कांच पर उसी समय इस गिरोह के एक शख्स ने टकटक कर ध्यान हटाया , जिसके बाद जब किरण का ध्यान गाड़ी से हट गया तो दुसरे शख्स ने उसकी गाड़ी से पांच लाख रुपये से भरा बैग लेकर फरार हो गया। किरण ने तुरंत इसकी जानकारी पुलिस को दी और पुलिस ने तुरंत एक्शन लेते हुए चोर को गिरफ्तार कर लिया।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें