सभी अस्पतालों पर हमारी नजर - एफडीए

 Mumbai
सभी अस्पतालों पर हमारी नजर - एफडीए

स्टेंट सहित अन्य कई दवाओ और उपकरणों की खरीदी-बिक्री में हुए घोटाले का पर्दाफाश कुछ महीने पहले एफडीए ने किया था। इस संदर्भ में लगभग 34 अस्पतालों के खिलाफ केस भी दर्ज किया गया था।

यह भी पढ़े : स्टेंट को लेकर एफडीए सख्त, जारी किया हेल्पलाइन नंबर

एफडीए के कमिश्नर डॉ. हर्षदीप कांबले ने बताया कि कुछ महीने पहले एफडीए को सुचना मिली थी कि राज्य भर में कई अस्पताल कानून का उल्लंघन करते हुए मेडिकल उपकरणों सहित ओर्थपेडीक उपकरणों की बिक्री कर रहे हैं। इस सूचना के आधार पर एफडीए ने फरवरी 2017 में मुंबई के जीटी अस्पताल सहित राज्य भर में करीब 39 अस्पतालों में छापा मारा था। इन छापों में मुंबई के जीटी अस्पताल सहित 5 अन्य अस्पताल भी शामिल थे। एफडीए ने इस अस्पतालों से करोड़ो रुपयों का अवैध ओर्थपेडीक उपकरणों का जखीरा जप्त किया था। इस अस्पतालों पर कार्रवाई करते हुए इनके खिलाफ केस फाइल किया गया।

यह भी पढ़े : स्टेंट की ज्यादा कीमत वसूलने वाले अस्पतालों पर कार्रवाई

जनआरोग्य आंदोलन के उमेश खके के अनुसार बिना अनुमति के उपकरणों की खरीदी बिक्री हो रही है और ग्राहकों को लूटा जा रहा है। एफडीए की यह कार्रवाई अत्यंत ही महत्वपूर्ण है इससे अब अवैध खरीद बिक्री पर रोक लगेगी।

मंजूरी लेना अनिवार्य है

ओर्थपेडीक उपकरणों के कालाबाजारी के पर्दाफाश होने के बाद उपकरणों के उत्पादन और खरीद बिक्री में मंजूरी लेना अनिवार्य है। सभी अस्पतालों में हमारी नजर है। कार्रवाई के बाद अनेक अस्पताल और उत्पादकों ने मंजूरी लेना शुरू कर दिया है। – डॉ. हर्षदीप कांबले, कमिश्नर, एफडीए

डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

Loading Comments