दलाल के काले चिट्ठे में शामिल म्हाडा के अधिकारी ?

 Pali Hill
दलाल के काले चिट्ठे में शामिल म्हाडा के अधिकारी ?

मुंबई – विजेता मिल मजदूरों की जानकारी लेकर उनके घर हड़पने के आरोप में एक दलाल को अखिरकार पुलिस ने धर दबोचा है। दलाल का नाम दत्ता खाडे (38) है। इसे कालाचौकी पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार किया है। जांच में पता चला है कि इस दलाल ने 10 लोगों को अपने जाल में फंसाया था। वहीं म्हाडा के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बहुत सालों से दत्ता खाडे म्हाडा में दलाली कर रहा था, ऐसी संभावना है कि उसने बहुत से मिल मजदूरों को अपने जाल में फंसाया होगा। खाडे की गिरफ्तारी के बाद मिल मदूरों के घरों की दलाली के अनेक परतें खुल सकती है।

तीन-चार महीना पहले खाडे के खिलाफ शिकायत आई थी। पर वो हाथ नहीं आ रहा था। बाद में घाटकोपर के घर में छिपे होने की खबर मिली। खबर के मुताबिक जाल बिछाकर उस गिरफ्तार किया गया। यह जानकारी कालाचौकी पुलिस स्टेशन के परिष्ठ निरीक्षक दिलीप उगले ने दी। उसे 15 दिसंबर तक की पुलिस कस्टडी में रखा गया है, पूछताछ जाारी है।

दत्ता खाडे रमाबाई आंबेडकरनगर प्रियदर्शनी का निवासी है, इसने मजदूरों को लालच देकर घर हड़पने और उन घरों को अधिक से अधिक कीमतों में आम आदमी को बेचने का धंधा करता था। जिसके मुताबिक सतीश चव्हाण और मंजुला गायकवाड को खाडे ने घर बेचा था। पर अनेक महीने बीत जाने के बाद भी इन्हें घर नहीं मिला तो दोनों ने खाडे पर दबाव बनाना शुरू किया। जिसके बाद खाडे फरार हो गया, दोनों ने खाडे के खिलाफ कालाचौकी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। जिसके बाद पुलिस ने गुरूवार को खाडे को धर दबोचा।

म्हाडा के भ्रष्ट अधिकारी, कर्मचारियों के बिना सहयोग से कोई भी दलाल घर हड़प नहीं सकता। मुंबई लाइव ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में वास्तिवक्ता दिखाई है। इस घपला में म्हाडा के भ्रष्ट अधिकारी, कर्मचारा शामिल हो सकते हैं, इनकी भी जांच होनी चाहिए, इस तरह की मांग मिल मजदूरों के नेता ने व्यक्त की है।

Loading Comments