अंधश्रद्धा के खिलाफ लड़ाई जारी

दादर - अंधश्रद्धा समाज को दीमक की तरह खा रहा है, जिसे समाप्त करने और उस पर से पर्दा उठाने के लिए अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति ने 6 दिसंबर को महापरिनिर्वाण दिवस के निमित्त शिवाजी पार्क में जनजागृति की है। यह समिति पिछले 36 सालों से अंधश्रद्धा के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है। इस मौके पर अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के मुंबई अध्यक्ष सचिन हिंदलेकर ने कुछ प्रयोग करके दिखाया जिसे तांत्रिक लोग भूत उतारने में काम में लाते हैं। उन्होंने अपने प्रयोग में दिखाया कि यह सब केमिकल का कमाल होता है, नाकि कोई मंत्र तंत्र की वजह से। उन्होंने अपने प्रयोग में दिखाया कि ग्लिसरीन और अबीर के रिएक्शन से कैसे आग लग जाती है।

अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के मुंबई अध्यक्ष सचिन हिंदलेकर का कहना है कि हमारा देश आज भी अंधश्रद्धा में जकड़ा हुआ है, आज भी महिलाएं तांत्रिक बाबाओं के जाल में फंसती हैं, और कई बार उनका शरीरिक शोषण भी होता है। अंधश्रद्धा के खिलाफ कानून भी बना जिसके लिए समाजिक कार्यकर्ता नरेंद्र दाभोलकर को अपनी जान तक गंवानी पड़ी। हमारी लोगों से अपील है कि आप तांत्रिकों के मायाजाल में न फंसे अगर ऐसा कहीं होता है तो तत्काल पुलिस से संपर्क करें।

Loading Comments