शिक्षा मंत्री के आदेशों की धज्जियां उड़ाते स्कूल

 Navi Mumbai
शिक्षा मंत्री के आदेशों की धज्जियां उड़ाते स्कूल

शिक्षा विभाग द्वारा कड़ाई करने के बाद भी स्कूलों द्वारा मनमानी दरों पर फीस वसूलने के मामलों में कोई कमी आती नहीं दिख रही है। ताजा मामला सानपाड़ा के विवेकानंद संकूल स्कूल का है। इस स्कूल ने बाकायदा फरमान जारी किया है कि 5वीं से लेकर 10वीं तक के बच्चों को स्कूल से ही पढ़ने लिखने की सामग्री ना अनिवार्य है। यही नहीं स्कूल ने तो फीस में ही कॉपी और किताबों के मूल्यों को भी जोड़ दिया है। इस मामले में जब अभिभावकों ने स्कूल प्रशासन से शिकायत की तो स्कूल प्रशासन ने फीस में कोई कमी नहीं करने की बात कही।

| यह भी पढ़े : प्राइवेट स्कूल के मनमानी के खिलाफ पैरेंट्स करेंगे आन्दोलन

इस फीस बढ़ोत्तरी और स्कूल के मनमानी रवैये से त्रस्त होकर अभिभावकों ने कई बार शिक्षा विभाग को पात्र लिखा लेकिन किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं हुई। गौरतलब रहे कि 21 अप्रैल को स्कूलों की इस मनमानी के खिलाफ बड़ी संख्या में अभिभावकों ने आजाद मैदान में मोर्चा निकाला था। यही नहीं अभिभावकों का एक समूह शिक्षा मंत्री विनोद तावडे से भी मिला था, तावडे ने स्कूलों पर कार्रवाई करने की बात कही थी और कहा था कि स्कूल पढ़ने लिखने के सामान को स्कूल से ही खरीदने के लिए किसी को बाध्य नहीं कर सकते हैं। बावजूद इसके स्कूल मंत्री के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहा है।

डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

Mumbai से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

Loading Comments