Advertisement

प्रसिद्ध सिने अभिनेत्री आशालता वाबगावकर का कोरोना से हुआ निधन

बताया जाता है कि सतारा (satara) के फल्टन तालुका में मराठी सीरियल 'मी माझी कालूबाई' की शूटिंग के दौरान वे कोरोना (Covid-19) की चपेट में आ गई थीं,

प्रसिद्ध सिने अभिनेत्री आशालता वाबगावकर का कोरोना से हुआ निधन
SHARES

हिंदी और मराठी फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री आशालता वाबगांवकर (ashalata wabgaonkar) का कोरोना (Coronavirus) की चपेट में आने के बाद निधन हो गया। वे 79 वर्ष की थीं। बताया जाता है कि सतारा (satara) के फल्टन तालुका में मराठी सीरियल 'मी माझी कालूबाई' की शूटिंग के दौरान वे कोरोना (Covid-19) की चपेट में आ गई थीं, जिसके बाद उन्हें 16 सितंबर को वाई के प्रतिभा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन वहां उनकी हालत और बिगड़ गयी, जिसके बाद इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

अशालता वाबगाँवकर (ashalata sabhaon kar)का ऑक्सीजन स्तर उच्च और निम्न होता जा रहा था।  उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। लेकिन मंगलवार सुबह करीब 4.30 बजे उनका निधन हो गया।  वाबगांवकर के निधन से मनोरंजन क्षेत्र में शोक फैल गया है।

सतारा जिले के पास स्थित वाई के पास हिंगोली नामके गांव में एक फार्म हाउस में सीरियल की शूटिंग चल रही थी। इस शूटिंग के लिए पिछले कुछ दिनों से आशालता वहां पर थीं। साथ ही इस सीरियल में एक गीत की शूटिंग भी होनी थी, जिसकी वजह से मुम्बई के कलाकारों का एक समूह भी वहां गया था। अनुमान लगाया जा रहा है कि इन्हीं सब कारणों से आशालता भी कोरोना से संक्रमित हो गईं।

यही नहीं 'आई माझी कालूबाई' के सेट पर कुल 27 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। अलका कुबल इस सीरियल में देवी कालूबाई की भूमिका निभा रही हैं। और अभिनेत्री आशालता वागगांवकर भी इसमें मुख्य भूमिका में थीं।

आशालता वाबगांवकर का जन्म 31 मई, 1941 को गोवा में हुआ था। मूल रूप वे गोवा (Goa) की थीं। उन्होंने कोंकणी और मराठी नाटकों से अपने अभिनय की शुरुआत की थीं। आशालता वाबगांवकर ने अब तक लगभग 100 हिंदी और मराठी फिल्मों में अभिनय किया है।  उन्होंने अपने सिने करियर की शुरुआत हिंदी फिल्म अपने-पराये से की थीं।

यही नहीं उन्हीने मशहूर हिंदी फिल्म जंजीर (janjeer) में अमिताभ बच्चन (amitabh bachchan) की सौतेली मां का रोल किया था।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement