आज है विश्व हेपेटाइटिस दिवस, जाने कैसे करें अपना बचाव !

 Mumbai
आज है विश्व हेपेटाइटिस दिवस, जाने कैसे करें अपना बचाव !

विश्व हेपेटाइटिस दिवस के मौके पर बीएमसी ने एक घोषणा करते हुए जानकारी दी की मुंबई में हेपीटाइटिस ए और ई के रोगियों की संख्या 128 है। हेपेटाइटिस वायरल संक्रमण के कारण होता है जिससे लिवर में सूजन हो जाता है। हेपेटाइटिस वायरस के 5 प्रकार हैं, ए, बी, सी, डी, और ई। इसमें, हैपेटाइटिस बी और सी एक बड़ा खतरा है।डॉक्टरों के मुताबिक, ये वायरस समूह में मौजूद हैं। इसलिए अगर किसी व्यक्ति को हैपेटाइटिस ए हो जाये तो उसे ई, बी और डी होने की भी संभावनाए बढ़ जाती है।

किन कारणों से फैलता है हेपेटाइटिस-
हेपेटाइटिस ए और ई आम तौर पर खाने और पानी में पाया जाता है। साथ ही गंदगी से भरी जगहों पर भी हेपेटाइटिस पाया जाता है।हेपेटाइटिस बी असुरक्षित सुई और सिरिंज के कारण होता है। साथ ही दुषित रक्त शरीर में प्रवेश करने के कारण भी हेपेटाइटिस बी होने की संभावनाए बढ़ जाती है।कुछ असरदार टीकों के साथ, हेपेटाइटिस बी को रोका जा सकता है। लेकिन हेपेटाइटिस सीके रोकथाम केो लिए कोई भी योग्य टीका नहीं है।

बीएमसी की कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पद्मजा केसकर का कहना है की स्थानिय लोगों को अपने परिसर को साफ रखाना चाहिए, गर्भवती महिला और बच्चों पर इसका प्रभाव काफी तेजी से फैलता है।

पिछलें तीन सालों में हेपेटाइटिस से होनेवाली की मृत्यु
साल कुल मृत्यु हेपेटाइटिस ए और ई से मौत
2014 -15 319 42
2015 -16 311 44
दिसंबर 2016 237 49
जुलाई 2017 128

हेपेटाइटिस के लक्षण
सुस्त और थकावट महसूस करना
ठंडा और बिमार महसूस करना
पिली पिशाब होना
भूख कम लगना
पीली त्वचा और आंखें ,जो पीलिया के संकेत हो सकती हैं

दुनियाभर में करीब 71 मिलियन लोग हेपेटाइटिस सी से पीड़ित हैं। अगर यह समय पर ठीक नहीं होता है तो यह सिरोसिस और यकृत कैंसर का कारण बन सकता है। एंटीवायरल दवाएं हैं जो इन बीमारियों से मुकाबला करने में मदद करती हैं । हालांकि, हेपेटाइटिस सी पर कोई टीका नहीं है।

डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे)

Loading Comments