भूमिपूजन कार्यक्रम के विरोध में उतरे बीडीडीवासी

 Lower Parel
भूमिपूजन कार्यक्रम के विरोध में उतरे बीडीडीवासी

म्हाडा के माध्यम से नायगांव, ना. म. जोशी मार्ग और वरली के बीडीडी चाल का वर्षों से अटका पड़ा पुनर्विकास कार्य जल्द ही होने वाला है। जिसके अनुसार जल्द ही नायगांव और ना. म. जोशी मार्ग में पुनर्विकास प्रकल्प का भूमिपूजन किया जाना है, लेकिन बीडीडीवासी म्हाडा का अब भी विरोध कर रहे हैं। बीडीडीवासियों की सहमति और उनकी मांग के अनुसार पुनर्विकास कराने के लिए लगातार म्हाडा और सरकार का विरोध कर रहे हैं। जिसके चलते म्हाडा और सरकार ने बीबीडीवासियों के गुस्से को शांत करने के लिए भूमिपूजन कार्यक्रम का इशारा दिया है।

नायगाव और ना. म. जोशी मार्ग में पुनर्विकास का ठेका फाइनल करने के बाद वरली के लिए निविदा मांगी गई है। जिससे जल्द ही नायगांव और ना. म. जोशी के प्रकल्प का भूमिपूजन किया जाएगा। इस दौरान बीडीडीवासियों के संगठन ने म्हाडा का विरोध पीछे ले लिया है, लेकिन वरली के रहिवासी अब भी म्हाडा का विरोध कर रहे हैं। इनका कहना है कि कहीं भी पुनर्विकास के पहले वहां के रहिवासियों की सहमति बंधनकारक है। जिसे लेकर उन्होंने हाईकोर्ट के याचिका दायर कर रखी है।

बुधवार रात को वरली बीडीडीवासियों ने सभा का आयोजन भी किया। इस सभा में बीडीडीवासियों ने म्हाडा द्वारा नायगांव और ना. म. जोशी मार्ग में पुनर्विकास प्रकल्प के भूमिपूजन कार्यक्रम के निर्णय की जानकारी अखिल बीडीडी भाडेकरू संघ के अध्यक्ष किरण माने ने दी।

Loading Comments