Advertisement

COVID-19: स्ट्रीट शॉपिंग के लिए उमड़ रहे लोग, पर खतरा अभी टला नहीं

मुंबई का दादर क्षेत्र बहुत ही भीड़-भाड़ भरा क्षेत्र है, जहां पर हमेशा चहल-पहल रहती थी। पर लॉकडाउन में ऐसी स्थिति थी कि परिंदा भी पर नहीं मार सकता था। सड़के खाली पड़ी रही थी।

COVID-19: स्ट्रीट शॉपिंग के लिए उमड़ रहे लोग, पर खतरा अभी टला नहीं
SHARES

कोरोना वायरस  (Coronavirus) महामारी ने पूरी दुनिया को घुटनों के बल लाकर खड़ा कर दिया है। इस बीमारी के चलते जन हानि के साथ-साथ व्यापक रूप में धन हानि भी हई है। कई कंपनियां, बंद हो गईं, लोगों के रोजगार छिन गए देश आर्थिक तंगी की ओर लगातार बढ़ता जा रहा है। भारत की सबसे अमीर बीएमसी (BMC) की भी हालत नाजुक होती जा रही है, क्योंकि महाराष्ट्र और खासकर मुंबई में कोरोना के केस में लगातार वृद्धि देखी जा रही है। पर अब धीरे-धीरे सरकार व बीएमसी शहर को दोबारा ट्रैक पर लाने की कोशिश कर रही है। मिशन बिगेन अगेन (Mission Begin Again) के तहत 5 अगस्त से शॉपिंग मॉल (Shopping Mall), मार्केट कॉम्पलेक्स को भी गाइडलाइन्स के साथ खोलने की अनुमति दी गई है। इसी बीच लंबे वक्त से मुंबई की खाली पड़ी सड़के भी अब भरी नजर आने लगी हैं, यहां पर बड़ी तादात में हॉकर्स और खरीददार नजर आने लगे हैं। 

मुंबई का दादर क्षेत्र बहुत ही भीड़-भाड़ भरा क्षेत्र है, जहां पर हमेशा चहल-पहल रहती थी। पर लॉकडाउन में ऐसी स्थिति थी कि परिंदा भी पर नहीं मार सकता था। सड़के खाली पड़ी रही थी। इस संबंध में मुंबई लाइव ने एक वीडियो भी शूट किया था, जिसे आप देख सकते हैं कि शहर में कितना सन्नाटा छाया हुआ था। पर अब मिशन बिगन अगेन के तहत अब शहर धीरे-धीरे ळहर खुलने लगा है और लोग बाजारों में उतरने लगे हैं। दादर की गलियों में मानों जान वापस आ गई है। पर यह खतरे से भरा भी है। 

यह भी पढ़ें:Mission Begin Again: शॉपिंग मॉल और मार्केट कॉम्प्लेक्स खुलेंगे, बिना ग्रुप के आउटडोर गेम भी खेल सकेंगे

बाजारों के खुलने, स्ट्रीट शॉपिंग शुरु होने से निश्चित ही बेरोजगार पड़े लोगों का इससे भला होगा। उनका घर नहीं चल पा रहा था, कितने प्रवाशी इसी दर्द के चलते अपने-अपने गांव वापस लौट गए हैं। पर कुछ लोग आस लगाए हुए थे कि एक दिन फिर मुंबई के हालात सामान्य होंगे और उनकी रोजी रोटी चल पड़ेगी। आज वह मौका भी आया है। पर इस दौरान  हॉकर्स या खरीददार की तरफ से सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर या मास्क को लेकर बरती गई लापरवाही भारी पड़ सकती है। जिसके परिणाम भी भयानक हो सकते हैं। हमारे सामने जो तस्वीरें आई हैं, उनसे साफ पता चलता है कि लोगों के अंदर से अब कोरोना का डर थोड़ा-थोड़ा करके खतम होते जा रहा है। पर हमें इसके बारे में जागरुक होना होगा कि अभी कोरोना खत्म नहीं हुआ है और हमारे द्वारा बरती गई लापरवाही इसे और ज्यादा बढ़ा सकती है। तो हमें निश्चित रूप से एक जिम्मेदार नागरिक का दायित्व निभाना होगा। 


यह भी पढ़ें: कोरोना को देखते हुए BMC ने के/वेस्ट में एक वार्ड एक गणपति अवधारणा की अपील की

वडाला से दादर स्ट्रीट शॉपिंग करने आईं पूजा पामू ने बताया कि वे घर पर रह रह कर बोर हो गई हैं, और उन्हें कुछ जरूरी खरीदारी भी करनी थी, इसलिए वे दादर आई हैं। पूजा ने कहा, निश्चित रूप से सड़कों पर शॉपिंग करते वक्त सोशल डेस्टेंसिंग का पालन करना जरा मुश्किल है। पर मैं यही कहूंगी कि आपकी तरफ से जितना हो उतना सतर्क रहें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें साथ ही मास्क अनिवार्य रुप से लगाएं, मैंने भी यही किया है। पर हां मुझे शॉपिंग करते वक्त थोड़ा डर भी लग रहा था, तो अब मैंने निश्चित किया है कि जब बहुत ही जरूरी होगा तभी घर से बाहर निकलूंगी, खासकर शॉपिंग करने के लिए। 

यह भी पढ़ें:Shakuntala Devi Review: फिल्म में मैथ्स से ज्यादा फैमिली ड्रामा

संबंधित विषय
Advertisement