SHARE

दलित नेता और भारिप बहुजन महासंघ के अध्यक्ष प्रकाश आंबेडकर और एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के बीच जुबानी जंग धीरे-धीरे तेज होती जा रही है। प्रकाश आंबडेकर ने अब शरद पवार पर पलटवार करते हुए उनके उस दावे को बेबुनियाद और झूठा करार दिया है जिसमें पवार ने कहा था कि एनसीपी के समर्थन से ही प्रकाश आंबेडकर सांसद बने हैं। गौरतलब है कि एनसीपी और प्रकाश आंबेडकर के बीच जुबानी जंग उस समय शुरू हुई थी जब अभी हाल ही में प्रकाश आंबेडकर ने अपने बयान में कहा था कि हम कांग्रेस को समर्थन देंगे, लेकिन उसकी सहयोगी पार्टी एनसीपी को कभी नहीं देंगे।


 क्या कहा आंबडेकर ने

पत्रकारों से बात करते हुए प्रकाश आंबेडकर ने कहा कि शरद पवार को कोई हक नहीं है कि वे किसी को कुछ कहें। एक घटना का जिक्र करते हुए आंबेडकर ने कहा कि साल 1999 में जब शरद पवार कांग्रेस छोड़ अपनी पार्टी बना ली थी उस समय एक चुनाव में पवार मेरे खिलाफ खड़े हुए थे। यही नहीं पवार ने बीजेपी पार्टी के उम्मीदवार प्रमोद महाजन के समर्थन में अपने पार्टी के कैंडिडेट को उनके विरोध में खड़ा नहीं किया।

पवार का पलटवार

आपको बता दें कि प्रकाश आंबेडकर ने अगले चुनाव के लिए एमआइएम पार्टी से गठबंधन किया है। पत्रकारों के एक सवाल को लेकर उन्होंने शरद पवार पर हमला करते हुए कहा था कि शरद पवार ने हमेशा से ही सांप्रदायिकता वाली पार्टी बीजेपी का सहयोग किया है। इसके बाद पलटवार करते हुए शरद पवार ने भी कहा था कि प्रकाश आंबेडकर हमें धर्म निरपेक्ष का पाठ न पढ़ाएं, क्या उस समय हमारी पार्टी सांप्रदायिकता वाली नहीं थी जब अकोला चुनाव में हमसे मदद मांगी थी।

पढ़ें: शरद पवार धर्म निरपेक्ष हैं उनकी पार्टी नहीं- प्रकाश आंबेडकर

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें