Advertisement

कोरोना से लड़ने में केंद्र पूरी तरह से विफल : शिव सेना

शिव सेना के मुखपत्र 'सामना' (saamna) में प्रकाशित एक संपादकीय में, शिवसेना ने देश में सबसे ज्यादा COVID-19 मामलों के संबंध में भारत की रैंकिंग तीसरे स्थान पर पहुंचने को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए केंद्र सरकार की खिंचाई की है।

कोरोना से लड़ने में केंद्र पूरी तरह से विफल : शिव सेना
SHARES


शिव सेना (shiv sena) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM narendra modi) पर कोविड-19 (Covid-19 pandemic) महामारी के खिलाफ जीतने में विफल रहने के आरोप लगाए हैं।मंगलवार को शिवसेना ने कहा कि केंद्र सेेरकर देश भर में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामलों को बढ़ने से रोकने में विफल रही है।

शिव सेना के मुखपत्र 'सामना' (saamna) में प्रकाशित एक संपादकीय में, शिवसेना ने देश में सबसे ज्यादा COVID-19 मामलों के संबंध में भारत की रैंकिंग तीसरे स्थान पर पहुंचने को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए केंद्र सरकार की खिंचाई की है।

शिव सेना के मुताबिक पीएम मोदी (PM modi) ने उम्मीद जताई थी कि, कोरोनोवायरस (Coronavirus) के खिलाफ लड़ाई 21 दिनों में जीती जाएगी, लेकिन अब 100 दिन के लगभग हो गए हैं जबकि Covid -19 का प्रकोप अभी भी बना हुआ है, 

संपादकीय में आगे लिखा गया है कि, कोरोनोवायरस के खिलाफ जारी यह लड़ाई महाभारत (mahabharat) से अधिक कठिन है क्योंकि महाभारत की लड़ाई (mahabharat war) 18 दिनों तक चली थी। जबकि COVID-19 के खिलाफ यह लड़ाई 2021 तक जारी रहेगी क्योंकि इसके लिए अभी तक कोई टीका उपलब्ध नहीं है।

संपादकीय में लिखा गया है कि, पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा था कि, महाभारत की लड़ाई 18 दिनों तक चली थी, लेकिन हमें यह लड़ाई 21 दिनों में जितनी है। इस तरह से मोदी ने कोरोनोवायरस (Coronabirus) के खिलाफ 21 दिनों में लड़ाई जीतने का आश्वासन दिया था। लेकिन अब 100 दिन से अधिक हो गया है और COVID-19 संकट अभी भी बना हुआ है।

सीओवीआईडी -19 के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त करते हुए, शिवसेना ने कहा कि यह उस देश के लिए एक दुर्भाग्यपूर्ण और गंभीर बात है, जो आने वाले दिनों में सुपर पावर (super power) बनने का इरादा रखता है, और जहां एक दिन में 25,000 से अधिक कोरोनोवायरस मामले सामने आते हैं।

संपादकीय में आगे चेतावनी दी गई है कि अगर COVID-19 मामलों की संख्या में वृद्धि इसी तरह से जारी रहती है तो भारत आने वाले दिनों में जल्द ही नंबर एक पर पहुंच जाएगा।  संपादकीय के अनुसार, “हमने कोरोना संख्या के मामले में रूस को पीछे छोड़ दिया है। अगर सीओवीआईडी -19 के मामले बढ़ते रहेंगे तो हम नंबर एक बन जाएंगे।'

यद्यपि महाराष्ट्र में COVID-19 रोगियों की संख्या बड़े पैमाने पर ठीक हो रही है, लेकिन ठाणे जैसे जिलों की स्थिति एक बड़ी चिंता का कारण है, शिवसेना ने कहा कि राजनेताओं, जनप्रतिनिधियों और प्रशासन के अन्य लोग संक्रमित हो रहे हैं जो देश और राज्यों के लिए ठीक नहीं है।

एक दिन में 22,252 COVID-19 मामलों के सामने आने के बाद भारत ने मंगलवार को सात लाख का आंकड़ा पार किया। देश में मरने वालों की संख्या 20,000 अंक तक पहुंच गई है। शिवसेना ने बताया कि एक लाख के निशान तक पहुंचने में 110 दिन लगे जबकि सात लाख को छूने में में मात्र 49 दिन लगे।

संबंधित विषय
Advertisement