Advertisement

अर्नब गोस्वामी को गिरफ्तार करो- महाराष्ट्र कांग्रेस

सचिन सावंत ने सवाल उठाते हुए कहा कि, बालाकोट पर हुई एयर स्ट्राइक (air strike in balacoat) की बेहद गोपनीय और संवेदनशील हमले के बारे में कैसे पता चला?

अर्नब गोस्वामी को गिरफ्तार करो- महाराष्ट्र कांग्रेस
SHARES

महाराष्ट्र में कांग्रेस (maharashtra congress) के प्रवक्ता सचिन सावंत (sachin sawant) ने रिपब्लिक टीवी (republic tv) के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी (arnab goswami) पर देश द्रोह का आरोप लगाते हुए उन्हें गिरफ्तार करने की मांग की है। सचिन सावंत ने सवाल उठाते हुए कहा कि, बालाकोट पर हुई एयर स्ट्राइक (air strike in balacoat) की बेहद गोपनीय और संवेदनशील हमले के बारे में कैसे पता चला? इसके बाद महाराष्ट्र कांग्रेस ने राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख (anil deshmukh) से अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी की मांग की है। सावंत ने कहा कि, यह देशद्रोह का एक रूप है।

पुलवामा (pulwama) में सीआरपीएफ जवानों पर हुए हमले में 40 जवानों के शहीद होने के बाद भारत (india) ने पाकिस्तान (Pakistan) के बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था। यह बात अर्नब को पहले से ही पता था, इस बात की जानकारी BARC के पूर्व सीईओ अर्नब गोस्वामी और पार्थो दासगुप्ता के बीच व्हाट्सएप चैट में सामने आई है।

कांग्रेस महासचिव और प्रवक्ता सचिन सावंत ने इसे बहुत ही गंभीर मामला बताया है। सचिन सावंत के नेतृत्व में मंगलवार को एक शिष्टमंडल ने गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात की और इसे आधिकारिक गोपनीयता अधिनियम का मामला बताते हुए गोस्वामी की गिरफ्तारी की मांग की।


इस मुलाकात के बाद सचिन सावंत ने कहा कि, महत्वपूर्ण रक्षा सूचना लीक करना एक "बहुत गंभीर मामला" है। सैन्य कार्रवाई के बारे में जानकारी कैसे लीक हुई? कार्रवाई के 3 दिन पहले 23 फरवरी 2019 को गोस्वामी को यह जानकारी कैसे मिली? क्या उन्होंने इसकी जानकारी किसी और को दी? इस सबकी जांच होनी चाहिए।

अर्नब गोस्वामी की यह करतुत ऑफिस सीक्रेट एक्ट 1923, सेक्शन-5 (Official Secrets Act, 1923, Sec.5) के तहत गोपनीयता का उल्लंघन है। इसलिए, महाराष्ट्र सरकार को अर्णब गोस्वामी को तुरंत गिरफ्तार करना चाहिए।

इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि, कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने शिकायत की थी कि, अर्नब गोस्वामी और पार्थो दासगुप्ता के बीच व्हाट्सएप चैट (whatsapp chat) में देश की सुरक्षा के बारे में अत्यधिक संवेदनशील जानकारी सामने आई है। हम इस मामले में कानूनी सलाह ले रहे हैं। राज्य सरकार वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के परामर्श से आगे की कानूनी कार्रवाई करेगी।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें