Advertisement

शिव भोजन थाली की संख्या हुई डेढ़ लाख

खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने जानकारी दी है कि लॉकडाउन के कारण शिवभोजन थालियों की संख्या बढ़ाकर 1.5 लाख करने का निर्णय लिया गया है।

शिव भोजन थाली की संख्या हुई डेढ़ लाख
SHARES

कोरोना वायरस यानी Covid 19 के कारण जिस तरह की बिकट स्थिति गरीब मजदूरों, किसानों, सड़कों पर रहने वाले लोगों के सामने पैदा हुई थी, उसे देखते हुए शिव भोजन थाली (shiv bhojan) की संख्या को बढ़ा दिया गया था साथ ही इसका विस्तार तालुका स्तर तक कर दिया गया था, ताकि लोग भूखे न रहें। शिव भोजन थाली प्रतिदिन सुबह 11 बजे से 3 बजे तक 1 लाख थाली रुपये 5 रुपए की दर से वितरित की जा रही थी। इसी कड़ी में खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने जानकारी दी है कि लॉकडाउन के कारण शिवभोजन थालियों की संख्या बढ़ाकर 1.5 लाख करने का निर्णय लिया गया है।

सरकार ने गरीब, किसान, मजदूर सहित अन्य वर्गों के गरीब लोग भूखे न रहें इसीलिए उन्हें केवल 5 रुपये में भोजन उपलब्ध कराने का महत्वाकांक्षी योजना का निर्णय लिया है। इस योजना को तालुका स्तर तक बढ़ाया गया है और प्रत्येक जिले में प्रदान की जाने वाली शिवभोजन थालियों की संख्या में पांच गुना वृद्धि की गई है।  सरकार शहरी क्षेत्रों के लिए प्रति प्लेट 45 रुपये और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 30 रुपये प्रति प्लेट केंद्र को प्रदान करती है।  

सरकार ने इसके लिए पहले ही 160 करोड़ रुपये आवंटित कर दिए हैं।  विस्तारित शिव भोज थली योजना का लाभ लॉकडाउन अवधि के दौरान 2 मई तक जारी रहेगा, ताकि नागरिकों के पास काम न होने के स्थिति में भी कोई भूखा न रहे।

सरकार के इस निर्णय के अनुसार, जो लोग कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन के दौरान अपना भोजन नहीं बना सकते थे, उन्हें जिला प्रशासन और पुलिस की मदद से शिव भोजन का लाभ लेने के लिए व्यापक प्रचार किया जाएगा।  इसके अलावा, यह सुनिश्चित करने के लिए ध्यान रखा जाएगा कि बेघर, प्रवासी और बाहरी छात्र किसी भी परिस्थिति में भूखे न रहें और सामाजिक दूरी का सख्ती से पालन किया जा सके। इस फैसले से कोरोना की पृष्ठभूमि में बनी स्थिति में भूखे और जरूरतमंद नागरिकों को बड़ी राहत मिलेगी।

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें