उद्धव ठाकरे ने JNU हिंसा की तुलना 26/11 के मुंबई हमले से की

उद्धव ठाकरे ने सोमवार को अपने निवास स्थान मातोश्री में एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया था। उसी आयोजन में उन्होंने यह बात कही।

SHARE



महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में हुई हिंसा की तुलना 26/11 मुंबई हमले से की है उद्धव के अनुसार जेएनयू हिंसा को देखकर उन्हें 26/11 (मुंबई अटैक) की याद आ गई। उद्धव ठाकरे ने सोमवार को अपने निवास स्थान मातोश्री में एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया थाउसी आयोजन में उन्होंने यह बात कही


उद्धव ठाकरे ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा, ये जो हमलावर थे, इन्हें नकाब से चेहरा ढंकने की क्या जरूरत थी। ये कायर थे, इसका समर्थन हिंदुस्तान में कभी भी नहीं हो सकता। यह सबकुछ देखकर मुझे 26/11 मुंबई अटैक की याद आ गई। मैं इस तरह के हमले महाराष्ट्र में कभी नहीं होने दूंगा।'


उन्होंने आगे कहा, 'जेएनयू घटना के बाद देश में छात्र असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। हालांकि महाराष्ट्र में छात्र सुरक्षित हैं, उन्हें नुकसान पहुंचाने की कोई कोशिश बर्दाश्त नहीं होगी।' 


मुंबई में विभिन्न कॉलेजों के छात्र जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हुई हिंसा के विरोध में सोमवार सुबह गेटवे ऑफ इंडिया पर इकट्ठा हुए। छात्रों ने हिंसा के खिलाफ नारेबाजी की। रविवार रात भी जेएनयू छात्रों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए इन छात्रों ने मोमबत्ती जलाईं थीं। मुंबई के विभिन्न कॉलेजों के अधिकतर छात्र ताज महल पैलेस होटल के पास एकत्रित हुए।

रविवार की रात को दिल्ली के JNU में लगभग 200 नकाबपोशों ने CAA, NRC और NPR के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे टीचरों और छात्रों पर हमला कर उन्हें घायल कर दिया था जिसे लेकर देश भर की राजनीतिक पार्टियों ने इसकी निंदा की साथ ही तमाम राज्यों के छात्र भी इस हिंसा के खिलाफ सड़क पर उतर कर इसके विरोध में आंदोलन और मोर्चा कर रहे हैं। 

बताया जा रहा है कि इस हिंसा को बीजेपी के छात्र संगठन ABVP के लोगों ने अंजाम दिया है जिसके बाद माहौल पूरी तरह से राजनीति रंग में बदल गया

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें