इशू क्या है: मनोज कोटक अभी बच्चे हैं- संजय दीना पाटिल


  • इशू क्या है: मनोज कोटक अभी बच्चे हैं- संजय दीना पाटिल
SHARE

संजय दीना पाटिल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) मुंबई उत्तर-पूर्व से लोकसभा चुनाव के उम्मीदवार हैं। मुंबई लाइव के साथ बात करते पाटिल ने अपने मुख्य मुद्दों और मुंबई के लोगों के लिए क्या करना चाहता है, इस बारे में बात करता है। इस बातचीत में, उन्होंने राजनीती से इतर स्वाद के शौकीनी के बारे में भी बात की। पाटिल का मुकाबला भाजपा के मनोज कोटक से है।

इशू क्या है के तहत बोलते हुए संजय दीना पाटिल ने अपने क्षेत्र की समस्याओं के बारे में बताया। उन्होंने यहां की मुख्य समस्या डंपिंग ग्राउंड को बताया। इस बाबत उन्होंने नयी टेक्नोलॉजी लाने की भी वकालत की ताकि कचरे को रिसायकल किया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि उनके इलाके में गार्डन, रोड, ओपन जिम, गरीबों के लिए फ्री एजुकेशन, जैसा कम भी किया है।

मनसे से समर्थन के बारे में जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि 2014 के आम चुनावों के दौरान, राज ठाकरे गुजरात मॉडल और मोदीजी के करिश्मे से प्रभावित थे। हालांकि, पिछले पांच वर्षों में, मोदी सरकार की हकीकत जब राज ठाकरे के सामने आई तो उन्हें उनकी  गलतियों का एहसास हुआ। अब हमारी विचारधारा समान है। पाटिल ने यहाँ माना कि राज ठाकरे का बीजेपी के खिलाफ विरोध निश्चित रूप से कांग्रेस-एनसीपी की मदद करेगा।

जब मुंबई लाइव ने उनसे यह पूछा कि क्या वह राज ठाकरे के इस कथन से सहमत हैं कि मुंबई केवल महाराष्ट्रियन या मराठी भाषी लोगों के लिए है,तो संजय दीना पाटिल ने कहा, “राज ठाकरे स्थानीय लोगों के रोजगार की वकालत करते हैं। महाराष्ट्रियन का मतलब उन लोगों से नहीं है जो केवल मराठी बोलते हैं, बल्कि उन लोगों से भी हैं जो यहां पैदा हुए है।

खाने के शौकीन पाटिल ने अपने खाने को लेकर भी कई राज खोले। साथ ही उन्होंने मनोज कोटक को बच्चा बताते हुए कहा कि बच्चों के साथ लड़ने में मजा कम ही आता है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें