फ्लोर टेस्ट के पहले ही देवेंद्र फड़णवीस और अजित पवार ने दिया इस्तीफा

कोर्ट ने साफ कर दिया था की बहुमत परिक्षण गुप्त तरीके से नहीं किया जाएगा बल्की इसका लाइव टेलीकास्ट किया जाएगा।

SHARE

सुप्रीम कोर्ट के फ्लोर टेस्ट के आदेश के कुछ ही घंटो के अंदर मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस और उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।  मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने अपना इस्तीफा राज्यपाल को भेज दिया है। आज ही सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस , एनसीपी और शिवसेना की याचिका पर सुनवाई करते हुए देवेंद्र फड़णवीस को बहुमत साबित करने के लिए बुधवार शाम तक फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था। कोर्ट ने साफ कर दिया था की बहुमत परिक्षण गुप्त तरीके से नहीं किया जाएगा बल्की इसका लाइव टेलीकास्ट किया जाएगा। बहुमत परीक्षण के पहले ही  देवेंद्र फड़णवीस और अजित पवार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। 

आपको बता दे की शनिवार की सुबह देवेंद्र फड़णवीस ने एनसीपी नेता अजित पवार के साथ मिलकर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। अजित पवार को भी उपमुख्यमंत्री बनाया गया था। अजित पवार ने अपने साथ एनसीपी विधायको की एक चिठ्ठी भी राज्यपाल को दी थीजिसमे एनसीपी विधाय़को के बीजेपी को समर्थन का दावा था।  हालांकी बाद में एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने साफ किया की अजित पवार जो पत्र राज्यपाल को दिया था वह एनसीपी की एक बैठक में मौैजूद विधायको की उपस्थिती का था। सुप्रीम कोर्ट ने भी इस लेटर को सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से मंगवाया था।  

बता दें कि अजित पवार ने एनसीपी के विधायक दल के नेता के तौर पर देवेंद्र फडणवीस को सरकार गठन के लिए समर्थन दिया था औ खुद डेप्युटी सीएम की शपथ ली थी। इस झटके के बाद रविवार को एनसीपी ने उन्हें इस जिम्मेदारी से हटाने के बाद जयंत पाटील को विधायक दल का नया नेता चुना था। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें