Advertisement

Shiv sena dussehra rally: 10 रूपये में देंगे थाली और 1 रूपये में स्वास्थ्य जांच- उद्धव ठाकरे ने की घोषणा

उद्धव ठाकरे ने अपने भाषण में राम मंदिर से लेकर बीजेपी के साथ गठबंधन, शरद पवार के खिलाफ ईदी द्वारा पूछताछ, किसान सहित अन्य योजनाओं का जिक्र किया।

Shiv sena dussehra rally: 10 रूपये में देंगे थाली और 1 रूपये में स्वास्थ्य जांच- उद्धव ठाकरे ने की घोषणा
SHARES
Advertisement

दशहरा के अवसर पर दादर के शिवाजी पार्क में आयोजित दशहरा रैली के अवसर पर शिवसेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने 35 मिनट तक भाषण दिया।  उद्धव ठाकरे ने अपने भाषण में राम मंदिर से लेकर बीजेपी के साथ गठबंधन, शरद पवार के खिलाफ ईदी द्वारा पूछताछ, किसान सहित अन्य योजनाओं का जिक्र किया।

भाषण की शुरुआत राम मंदिर से 

उद्धव ठाकरे ने अपने भाषण की शुरुआत राम मंदिर से करते हुए कहा कि सरकार को राम मंदिर मुद्दे पर कानून लाना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज भी राम मंदिर को लेकर दृढ़ हैं, विशेष कानून की मांग करते हैं। शिवसेना चाहती है कि राम मंदिर अयोध्या में राम जन्मभूमि पर बनाया जाए और इसके लिए कानून बनाया जाये। उन्होंने आगे कहा कि अगर हमारे पास भगवान रामचंद्र की तरह निष्ठा है, तो हम लोगों की सेवा के लिए प्रतिबद्ध हैं।'

उद्धव ने अपने भाषण में और क्या कहा  

जैसे पहले 1 रूपये में झुणका भाकरी देने की घोषणा की इग्यी थी ठीक उसी तरह से  गरिबों के लिए 10 रूपये में खाने की थाली उपलब्ध कराएंगे,

प्राथमिक अस्पतालों में मात्र 1 रूपये में बीमारी की जांच होगी, जिसका केंद्र महाराष्ट्र भर में खोला जाएगा,

300 यूनिट बिजली का उपभोग करने वाले घरेलू बिजली की दरों में 30 फीसदी की कमी करेंगे,

मुझे युवकों से कहना है कि आप आगे आओ, युवक ही इतिहास बनाते हैं,

मैं तमाम उन शिवसैनिकों से माफी मांगता हूँ जिन्हें टिकट नहीं मिला है, आप ध्यान दें कि आपकी ताकत को कभी कम करके नहीं आंका जाना चाहिए,

हर गांव, हर खेड़ा हर घर में शिव सैनिक होना चाहिए,

आज भारत से प्यार करने वाला मुसलमान हमारे साथ है. हम उनके विकास के लिए उनके न्याय के लिए काम कर रहे हैं,

कांग्रेस और एनसीपी 50-60 साल तक खा कर थके गये? अभी में थको, हमारी जीत कीमिठाई खाने के लिए तैयार रहो,

अजित पवार आँख में आंसू लाकर कहते हैं कि राजनीति का स्तर गिर गया है और मैं खेती करूँगा, जरुर करो लेकिन बांधों में पानी नहीं है क्या करोगे?

कोई भी फैसला लेते समय मेरे मन में एक ही विचार आता है कि क्या यह फैसला सही है, शिव सैनिकों के लिए यह फैसला सही है? 

संबंधित विषय
Advertisement