बीजेपी-शिवसेना के खिलाफ करेंगे प्रचार- मराठा क्रांति मोर्चा

चेतावनी देते हुए मराठा क्रांती मोर्चा ने कहा, अगर दो दिनों में हमारी मांगें नहीं मानी गई तो हम बीजेपी-शिवसेना का बहिष्कार करेंगे।

SHARE

आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव में शिवसेना-बीजपी गठबंधन को झटका लग सकता है क्योंकि मराठा क्रांति मोर्चा ने इनके खिलाफ प्रचार करने का निर्णय लिया है। मराठा क्रांति मोर्चा का कहना है कि मराठा आरक्षण को बीजेपी-शिवसेना की सरकार ने कोर्ट में अटका के रखा हुआ है।

'राज्य भर में सरकार के करेंगे खिलाफ प्रचार'
मराठा क्रांती मोर्चा की तरफ से मुंबई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया था। पत्रकारों से बात करते हुए मराठा क्रांती मोर्चा ने कहा कि हम बीजेपी-शिवसेना के किसी भी उम्मीदवार को वोट नहीं देंगे। राज्य भर में बीजेपी-शिवसेना के एक भी बूथ को लगाने नहीं दिया जाएगा और जहां-जहां इनकी सभा आयोजित की जाएगी उसे खाली करवाया जाएगा। यह सरकार मराठा समाज के खिलाफ हैं। हम राज्यभर में इस सरकार के खिलाफ प्रचार करेंगे।

'तो बीजेपी-शिवसेना का करेंगे बहिष्कार'
मोर्चा के मुताबिक शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने आश्वासन दिया था कि हम सरकार में हैं इसीलिए मराठाओं के खिलाफ सभी अपराधों को माफ कर दिया जाएगा। लेकिन जब मराठाओं का एक शिष्टमंडल मातोश्री गया तो उनका अपमान किया गया। मराठा क्रांती मोर्चा के अनुसार मराठा आरक्षण का सवाल हो या फिर मराठा आंदोलनकारियों के खिलाफ दर्ज किए गए केस का अभी तक किसी पर भी सरकार द्वारा निर्णय नहीं लिया गया है। यही नहीं चेतावनी देते हुए मराठा क्रांती मोर्चा ने कहा, अगर दो दिनों में हमारी मांगें नहीं मानी गई तो हम बीजेपी-शिवसेना का बहिष्कार करेंगे।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें