सफाई कर्मचारियों ने मांगा अपना हक

Pali Hill, Mumbai  -  

मुंबई - आजाद मैदान में यह सभा है उन सफाई कर्मचारियों की जिनके जिम्मे मुंबई की स्वच्छता का जिम्मा है, लेकिन ना तो सरकार और ना ही बीएमसी इनके हक के लिए चिंतित है। आज भी ये मजदूर ठेकेदारों की दी गई मजदूरी पर निर्भर रहते हैं। जिसके चलते राज्य के 35 हजार ठेका सफाई कर्मचारी न्यूनतम वेतन और अन्य सुविधाओं से वंचित हैं। इसी को लेकर जेएनयू के विद्यार्थी नेता कन्हैया कुमार और गुजरात दलित आंदोलन के अगुवा जिग्नेश मेवाणी के नेतृत्व में सभा हुई। वहीं सामाजिक कार्यकर्ता और वकील जिग्नेश मेवाणी ने गुजरात मॉडल को लेकर मोदी सरकार पर को जमकर फटकार लगाई। इस दौरान सफाई कर्मचारियों के शिष्टमंडल ने मंत्रालय में जाकर संबंधित अधिकारी से मुलाकात की जिसमें उन्हें सिर्फ आश्वासन मिला है सफाई कर्मचारियों के नेताओं ने मांग नहीं माने जाने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी भी दी है।

Loading Comments