महाराष्ट्र सहकारी बैंक घोटाला: अजित पवार सहित अन्य पर मुंबई पुलिस ने किया केस दर्ज

RTI एक्टिविस्ट सुरिंदर अरोड़ा ने कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर अनुरोध किया था कि इस मामले में इन नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया जाए

SHARE

नेशनल कांग्रेस पार्टी के लिए बुरी खबर है, महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक (MSC) में हजारों करोड़ रुपये का कर्ज बांटने के आरोप में पूर्व उपमुख्यमंत्री और NCP नेताओं अजीत पवार, विजय सिंह मोहिते-पाटिल, आनंदराव अडसुल, शिवाजीराव नलवडे सहित अन्य नेताओं पर मुंबई की MRA पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। यह मामला उच्च न्यायालय के आदेश के बाद  दर्ज किया गया है।

महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक महाराष्ट्र राज्य का जाना माना बैंक है। इस बैंक से 25 हजार करोड़ रूपये का कर्ज वितरित किया गया था, बाद में इस कर्ज को लेकर विवाद शुरू हुआ और जांच में कर्ज बांटने को लेकर अनियमितिता बरतने की बात सामने आई। इसके बाद में  भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंक के निदेशक मंडल की बर्खास्तगी की जांच का आदेश दिया।

पढ़ें: महाराष्ट्र सहकारी बैंक घोटाला: अजित पवार सहित 50 नेताओं पर हो सकता है केस दर्ज

RTI एक्टिविस्ट सुरिंदर अरोड़ा ने कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर अनुरोध किया था कि इस मामले में इन नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया जाए क्योंकि नाबार्ड, सहकारी और कैग की रिपोर्ट के बाद भी इस मामले में एक भी केस दर्ज नहीं की गयी है। इस याचिका पर सुनवाई के दौरान, अदालत ने पुलिस को 5 दिनों  दिनों के भीतर अपराध दर्ज करने का आदेश दिया था।


 इस तरह हुआ नुकसान 

  • निदेशक मंडल ने नाबार्ड के निर्देशों का उल्लंघन किया 
  •  नौ चीनी कारखानों को 331 करोड़ का ऋण
  • गिरणा, सिंदखेडा कारखानों, कपास मिलों के लिए 60 करोड़ का ऋण
  • केन एग्रो इंडिया का बैंक गारंटी के राशि में भी 90 करोड़ रुपये का नुकसान  
  • 24 चीनी कारखानों को बिना गारंटर कर कर्ज, ऋण न चुकाने पर 225 करोड़ रूपये का बकाया
  • 22 कारखानों से 195 करोड़ रुपये का कर्ज
  •  लघु उद्योगों को दिए गए ऋण के कारण 3 करोड़ का नुकसान
  •  कर्ज वसूली के लिए संपत्ति बेचने के बाद भी 5 करोड़ बकाया
  •  निजी संपत्ति की बिक्री, 2 करोड़ का नुकसान
  •  8 बकायादारों की संपत्तियों की बिक्री में भी 4 करोड़ का नुकसान
संबंधित विषय
ताजा ख़बरें

महाराष्ट्र सहकारी बैंक घोटाला: अजित पवार सहित अन्य पर मुंबई पुलिस ने किया केस दर्ज
00:00
00:00