हम चुनावी जुमले नहीं देते- उद्धव

मुंबई - आगामी बीएमसी चुनाव को देखते हुए अब शिवसेना और बीजेपी दोनो एक दूसरे पर हावी होते दिखना चाहती हैं। शायद इसलिए दोनों पार्टियां अब एक दूसरे की लड़ाई जनता के बीच लेकर जाना चाहती हैं। जहां बीजेपी ने अभी तक अपने चुनावी घोषणापत्र का ऐलान नहीं किया है तो वहीं शिवसेना ने गुरुवार को मुंबईकरों के लिए कुछ नए कामों का ऐलान किया।

गठबंधन पर शिवसेना पार्टी प्रमुख ने कहा कि कहा कि भाजपा से गठबंधन पर अभी मेरी किसी से कोई बातचीत नहीं हुई है। बातचीत होने के बाद ही निर्णय लिया जाएगा। पुराने गठबंधन सहयोगियों के बीच चुनाव पूर्व गठबंधन को लेकर बुधवार को हुई दूसरे चरण की वार्ता के बाद शिवसेना के सांसद अनिल देसाई ने कहा था कि मुंबई स्थानीय निकाय चुनाव में भाजपा 114 सीटें चाहती है। शिवसेना पार्टी प्रमुख ने कहा कि हमने उनसे उन सीटों का ब्योरा मांगा है, जिनपर वह चुनाव लड़ना चाहते हैं। फिर दोनों दलों के बीच तय हुआ कि भाजपा बुधवार की रात तक सूची साझा करेगी। एक बार हमें सूची मिल जाए, हम आंतरिक स्तर पर बातचीत करेंगे, जिसमें एक दिन लग सकता है। एक बार यह हो जाए, फिर हम भाजपा से बात करेंगे।’

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि शहर में आवास और स्वास्थ्य के क्षेत्र पर एक बड़ा प्रश्न चिन्ह है। उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो 500 वर्ग फुट तक के कारपेट एरिया वाले मौजूदा घरों के लिए संपत्ति कर पूरी तरह से माफ कर दिया जाएगा। वहीं, 700 वर्ग फुट तक के घरों के लिए संपत्ति करों में रियायत दी जाएगी। ठाकरे ने भाजपा पर चुटकी लेते हुए कहा कि हम चुनावों में जुमलेबाजी नहीं करते। जनता के साथ हमारा रिश्ता सिर्फ चुनावों तक सीमित नहीं है।

Loading Comments