हम यहां फायदे और घाटे के लिए नहीं आए हैं – रामदास कदम

 Mumbai
हम यहां फायदे और घाटे के लिए नहीं आए हैं – रामदास कदम
हम यहां फायदे और घाटे के लिए नहीं आए हैं – रामदास कदम
See all

शिवसेना में क्या इस समय सब कुछ सही चल रहा है। ऐसा इसीलिए कहा जा रहा है क्योंकि शिवसेना के लोक प्रतिनिधि प्रशिक्षण शिविर में मंत्रियों के आपसी विवाद खुल कर सामने आ गये। पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने परिवहन मंत्री दिवाकर रावते की उपस्थिति में ही उनको खरी खोटी सुनाई।

हालांकि इस प्रशिक्षण शिविर में मीडिया के लिए रोक थी। लेकिन सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार रामदास कदम ने दिवाकर रावते पर हमला बोलते हुए कहा कि दिवाकर रावते से गांव के लिए एसटी बसों की मांग की थी लेकिन उन्होंने नहीं दिया। वे कहते हैं कि एसटी घाटे में है। कदम ने आगे कहा कि हम फायदे और घाटे के लिए यहां नहीं आए हैं बल्कि शिवसैनिकों की सेवा के लिए आए हैं। उन्होंने आगे कहा कि मुझे मालूम है कि पीठ पीछे मेरी बुराई होगी, लेकिन उसकी मुझे आदत है।

वे यहीं नहीं रुके उन्होंने अन्य नेताओं पर भी निशाना साधते हुए कहा कि शिवसेना प्रमुख के समय में किसी की हिम्मत नहीं थी कि वे पार्टी के साथ गद्दारी करें, लेकिन अब किसी को टिकट नहीं मिलता है तो वह तुरंत दूसरी पार्टी में चला जाता है। ऐसा लगता है कि कुछ लोगों का जन्म ही मात्र टिकट के लिए ही हुआ है।

साधा बीजेपी पर निशाना 

रामदास कदम ने बीजेपी को शिवसेना का असली शत्रु बताया। कदम ने कहा कि इन 25 सालों में युति सड़ गयी है। उन्होंने कहा कि बीएमसी का चुनाव मराठी विरुद्ध गुजरती, मारवाड़ी हो गया था। कदम ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि बीजेपी ने ग्रामपंचायत सदस्यों को खरीदने के लिए निकले हैं।

परिवहन मंत्री दिवाकर रावते से जब रामदास कदम के आलोचना के बाबत पूछा गया तो उन्होंने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया।

Loading Comments