Advertisement

सांगली से निकलेगा 'ट्रैक्टर मोर्चा'; राजू शेट्टी भी होंगे शामिल


सांगली से निकलेगा  'ट्रैक्टर मोर्चा';  राजू शेट्टी भी होंगे शामिल
SHARES

पिछले दो महीने से दिल्ली की सीमा पर चल रहे किसानों के आंदोलन  (Farmer protest) का समर्थन करने और केंद्र सरकार के कृषि कानून (Farm law)  का विरोध करने के लिए सोमवार को मुंबई में एक विशाल किसान मार्च का आयोजन किया गया।  किसान सभा के नेतृत्व में किसान मार्च रविवार को दक्षिण मुंबई के आजाद मैदान (Azad maidan)  पहुंचा।  हजारों किसान विभिन्न वाहनों में मुंबई पहुंचे हैं और राजभवन की ओर मार्च करने के लिए सोमवार को एक सार्वजनिक बैठक आयोजित की जाएगी।

महाविकास आघाडी सरकार में तीनों दलों ने किसान आंदोलन को अपना समर्थन देने की घोषणा की।  एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात ने पहले ही घोषणा कर दी है कि वे आंदोलन में शामिल होंगे।  साथ ही किसान संघ के नेता राजू शेट्टी सांगली से ट्रैक्टर को हटाकर आंदोलन में भाग लेंगे।


राज्य के विभिन्न किसान संगठन इस आंदोलन में भाग ले रहे हैं और कई स्थानों पर आंदोलन अलग-अलग तरीके से चल रहे हैं।  स्वाभिमानी शेतकरी संगठन का ट्रैक्टर मोर्चा सांगली में क्रांतिसिंह नाना पाटिल की प्रतिमा को प्रणाम करने के बाद सांगली से कोल्हापुर की ओर आएगा।  राजू शेट्टी ने कहा कि ट्रैक्टरों के साथ सांगली और कोल्हापुर जिलों के बड़ी संख्या में किसान इसमें भाग लेंगे।  राजू शेट्टी ने कहा, "हम पिछले जून से इन तीनों कृषि कानूनों का लगातार विरोध कर रहे हैं, इसलिए हमें किसी के समर्थन की उम्मीद नहीं है।"

शेट्टी ने यह भी कहा कि वह इस बात से नाराज थे कि विपक्षी दल पूरी ताकत से आंदोलन में हिस्सा नहीं ले रहे थे।  देश भर के किसान बड़ी संख्या में और बड़ी संख्या में आंदोलन में भाग ले रहे हैं, लेकिन विपक्ष प्रभावी नहीं है।  स्वामीनाथन आयोग के अनुसार, किसान गन्ने के लिए गारंटीकृत कीमतों और एफआरपी की मांग कर रहे हैं।  लेकिन, सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही है और ऐसे कानून बनाए हैं जिनकी किसी ने मांग नहीं की है।  राजू शेट्टी ने आरोप लगाया कि कानून केवल कॉर्पोरेट उद्यमियों, अडानी-अंबानी के लिए बनाए गए थे।


गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुंबई में आयोजित होने वाले किसान मोर्चा (Farmer) के लिए मुंबई में तंग सुरक्षा तैनात की गई है।  अतिरिक्त पैरामिलिट्री के साथ ड्रोन की मदद से पुलिस भी मोर्चे पर नजर रख रही है।  दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए किसान मोर्चा सोमवार को राजभवन में हड़ताल करेगा।  मोर्चा रविवार को नासिक से मुंबई पहुंच गया है।


आजाद मैदान राज्य भर के किसानों का घर है।  इस क्षेत्र में भी पुलिस द्वारा सख्त सुरक्षा तैनात की गई है।  मोर्चा की पृष्ठभूमि में 100 अधिकारियों और 500 अधिकारियों का एक अतिरिक्त बल तैनात है।  इसके अलावा, नौ एसआरपीएफ इकाइयों को उनकी डिमटी पर तैनात किया गया है और पुलिस ड्रोन द्वारा सभी आंदोलनों की निगरानी करेगी।  साथ ही, गणतंत्र दिवस के अवसर पर गश्त तेज कर दी गई है।  राज्य के आतंकवाद निरोधी दस्ते भी पूरे घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए हैं।

यह भी पढ़े- पीएमसी बैंक धोखाधड़ी मामले में विधायक हितेंद्र ठाकुर के ईडी के छापे के बाद 2 लोग गिरफ्तार

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें