फिर भिड़े गुरुदास कामत और संजय निरुपम

मुंबई - मुंबई कांग्रेस में कामत बनाम निरुपम गुट में घमासान छिड़ गया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री गुरुदास कामत ने खुलकर मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम पर सीधा निशाना साधते हुए उन्हें नकारात्मकता से भरा बता दिया है। कामत द्वारा अपने समर्थकों को भेजे एसएमएस में आगामी बीएमसी चुनाव में उम्मीदवारी के लिए भी उनसे संपर्क न करने की स्पष्ट सूचना दी गई है। समर्थकों को इंग्लिश में भेजे मैसेज में कामत कहते हैं कि, महानगर पालिका चुनाव के लिए जिन्हें उम्मीदवारी चाहिए वे स्थानीय विधायक और अन्य पदाधिकारियों से संपर्क करें। उन्होंने अपने आप को इस पूरी प्रक्रिया से दूर कर लिया है। कांग्रेस के मुंबई अध्यक्ष संजय निरुपम का नकारात्मक रवैया इसके लिए जिम्मेदार है। कामत के इस एसएमएस बम पर जब मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम से पूछा गया तो उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि, पार्टी आलाकमान के पास उम्मीदवार चयन समिति के भेजे नामों में सभी नेता शामिल हैं और उस प्रस्ताव पर सब के हस्ताक्षर भी हैं। गुरुदास कामत 2014 का लोकसभा चुनाव हारने के बाद पार्टी से खफ़ा चल रहे हैं। गुजरात और राजस्थान में पार्टी का प्रभारी पद भी उन्होंने आननफानन में त्याग कर राजनीतिक सन्यास का ऐलान किया था। बाद में उन्हें शीर्ष नेतृत्व ने मना लिया। इसके बावजूद मुंबई कांग्रेस के अंदर का घमासान ख़त्म नहीं हो रहा। संजय निरुपम बनाम पार्टी के अन्य धड़ों के बीच समन्वय का अभाव ऐसे कई मौकों पर उभरकर आ चुका है।

वहीं इस बारे में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक चव्हाण ने गुटबाजी से इनकार किया लेकिन मतभेद की बात जरूर स्वीकार की है। क्या कुछ कहा अशोक चव्हाण ने सुनने के लिए नीचे क्लिक करें... 

https://www.youtube.com/watch?v=phY2K0if7mU

 

Loading Comments