Advertisement

Mumbai Local: रेलवे ने फेरीवालों के खिलाफ लिया एक्शन, महिला कोच में बेचते थे सामान

महिला यात्रियों की संख्या में वृद्धि के बाद, फेरीवालों ने भी लोकल में सफर करना शुरु किया और सामान बेचना शुरु किया है।

Mumbai Local: रेलवे ने फेरीवालों के खिलाफ लिया एक्शन, महिला कोच में बेचते थे सामान
SHARES

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मुंबई की लाइफ लाइन लोकल ट्रेन सेवा (Mumbai Local) बंद कर दी गई थी। हालांकि, जब यह देखा गया कि कोरोना के केस कुछ घट रहे हैं तब एसेशियल सर्विसेस में लगे कर्मचारियों के लिए लोकल शुरु की गई। लेकिन अब इसे बाकी कर्मचारियों के साथ-साथ विशेषकर महिला यात्रियों के लिए भी शुरू किया गया है। हालांकि, आम यात्री अभी भी इंतजार कर रहा है। हालांकि, महिला कोचों में फेरीवाले (Hackers) देखे जा रहे हैं।

महिला यात्रियों की संख्या में वृद्धि के बाद, फेरीवालों ने भी लोकल में सफर करना शुरु किया और सामान बेचना शुरु किया है। फेरीवालों की वजह से महिला यात्रियों को यात्रा के दौरान काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। केंद्रीय रेलवे सुरक्षा बल को शिकायत मिलने के बाद पिछले चार दिनों में 10 से अधिक हॉकर्स को गिरफ्तार किया गया है।

यह भी पढ़ें: टीआरपी घोटाले में ठाणे से एक हुआ गिरफ्तार

21 अक्टूबर से सभी महिलाओं के लिए लोकल सेवा शुरू की गई। सामान्य महिला यात्रियों के लिए, सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे और शाम 7 बजे के बाद लोकल में यात्रा की अनुमति है। अन्य समय में, रेलवे द्वारा यह स्पष्ट किया गया है कि एसेशिंयल सर्विसेस के कर्मचारियों के अलावा किसी और को यात्रा करने की अनुमति नहीं रहेगी। 

आम महिलाओं को लोकल में यात्रा करने की अनुमति मिलने के बाद फेरीवाले भी यात्रा करने लग गए हैं। वे प्लास्टिक की थैलियों में सामान जैसे रुमाल, स्कार्फ आदि पैक करके लाते हैं और लोकल में बेचना शुरु कर देते हैं। वे रेलवे प्रशासन की नजर में न आएं इसलिए वे बड़ी चालाकी से ट्रेन में उतरते व चढ़ते हैं।  पर इसके चलते महिला यात्रियों को मुसीबत का सामना करना पड़ता है। इसी को ध्यान में रखते हुए रेलवे प्रशासन ने फेरीवालों के खिलाफ एक्शन लिया है।

यह भी पढ़ें: एसटी कर्मचारियों के वेतन की घोषणा

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें