Coronavirus cases in Maharashtra: 202Mumbai: 77Islampur Sangli: 25Pune: 24Nagpur: 13Pimpri Chinchwad: 12Kalyan: 7Navi Mumbai: 6Thane: 5Yavatmal: 4Vasai-Virar: 4Ahmednagar: 3Satara: 2Panvel: 2Ulhasnagar: 1Aurangabad: 1Ratnagiri: 1Sindudurga: 1Kolhapur: 1Pune Gramin: 1Godiya: 1Jalgoan: 1Palghar: 1Buldhana: 1Gujrat Citizen in Maharashtra: 1Total Deaths: 7Total Discharged: 34BMC Helpline Number:1916State Helpline Number:022-22694725

road accident : पिछले 9 सालों में सबसे कम सड़क हादसे हुए 2019 में

ट्रैफिक अधिकारियों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार 2019 में 378 दुर्घटनाओं में 403 लोग मारे गए थे। यह 2011 की तुलना में 28% की कमी है और 2018 की तुलना में 15% है।

road accident : पिछले 9 सालों में सबसे कम सड़क हादसे हुए 2019 में
SHARE


मुंबई शहर को हादसों का शहर कहा जाता है. यहां की सड़कों पर आए दिन कहीं न कहीं हादसे होते रहते हैं। लेकिन अब एक राहत भरी खबर है कि साल 2019 में पिछले 9 सालों में सबसे कम हादसा घटित हुआ है। ट्रैफिक अधिकारियों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार 2019 में 378 दुर्घटनाओं में 403 लोग मारे गए थे। यह 2011 की तुलना में 28% की कमी है और 2018 की तुलना में 15% है।

प्राधिकारियों ने घातक नियमों में गिरावट का श्रेय नियमों के साथ-साथ अन्य मेट्रिक्स जैसे क्रैश डेटा विश्लेषण और डिज़ाइन (वाहन और अन्यथा) के संदर्भ में लाए गए परिवर्तनों को दिया। जहां तक आकस्मिक हादसों का सवाल है, 2019 में 2,325 दुर्घटनाओं में 2,882 लोग घायल हुए, जो कि 2011 के बाद भी सबसे कम है।

यातायात के संयुक्त आयुक्त मधुकर पांडे ने कहा कि हम पिछले वर्षों के क्रैश डेटा का अध्ययन करते हैं, हादसों के कारणों का विश्लेषण करते हैं और सुधारात्मक कार्रवाई करते हैं। यह एक अंधेरे लेन में स्ट्रीट लाइट लगाने या पुल की पैरापेट दीवार को बढ़ाने के रूप में कुछ भी हो सकता है।”

दूसरी ओर, लोगों का यह कहना है कि सड़कों पर वाहनों की बढ़ती हुई भीड़ और खुली सड़कों की कमी भी दुर्घटनाओं  का एक कारक है विशेषज्ञों का मानना है कि अगर मोटर चालकों द्वारा नियमों का पालन किया जाता है तो हादसों की संख्या और मृत्यु दर में कमी आ सकती है।

एक्टिविस्ट अशोक दातार के मुताबिक, गलत दिशा में गाड़ी चलाने और गलत तरीके से ओवरतक करने के अलावा बेस्ट बस के यात्रियों द्वारा गलत दिशा में उतरना भी हादसों को आमंत्रित करता है। अगर सख्ती से नियमों को लागू किया जाता है और कानून तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है तो हादसों में कमी जरूर आएगी। इसके लिए एक सख्त ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने वाली प्रणाली और अधिक शिक्षा की आवश्यकता है।"

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें