Advertisement

बीएमसी ने गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड (जीएमएलआर) परियोजना के लिए सलाहकार नियुक्त किया

बीएमसी ने इस परियोजना के लिए इस वर्ष के वार्षिक बजट में 100 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा है।

बीएमसी ने गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड (जीएमएलआर) परियोजना के लिए सलाहकार नियुक्त किया
SHARES

बीएमसी ने गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड (जीएमएलआर) परियोजना के लिए सलाहकार के रूप में टीपीएफ इंजीनियरिंग का चुनाव किया है। यह सहायक सलाहकार के रूप में कार्य करेगा जो डिज़ाइन तैयार करेगा, दस्तावेज़ बनाएगा, यातायात गिनती की जांच करेगा और जीएमएलआर परियोजना के लिए व्यवहार्यता का आकलन करेगा। इस कार्य के लिए इस सलाहकार को 9 करोड़ रपपये दिए जाएंगे।

यह भी पढ़े- BMC के खिलाफ किन्नरों की नारेबाजी!

जीएमएलआर बीएमसी की सबसे महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक है, जिसे 19 60 के दशक में पूर्व-पश्चिम कनेक्टर के रूप में प्रस्तावित किया गया था। तब से, शहर में कई कनेक्टर हैं लेकिन जीएमएलआर का कार्य कागजी दस्तावेज पर ही रह गया है। बीएमसी इस परियोजना के लिए 100 करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है।

यह भी पढ़े- लोअर परेल ब्रिज बंद होने से लोगों को हो रही है अच्छी खासी परेशानी!

जीएमएलआर के बारे में
यह एक 14 किमी की सड़क है जिसमें दो सुरंगों के रूप में संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान (एसजीएनपी) के बीच से पांच किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें