बारिश के पहले शुरु हो जाएगा सांताक्रुज का गजधर पंपिंग स्टेशन

इस पंपिंग स्टेशन के शुरु होने से प्रति सेकंड 36,000 लीटर पानी समुद्र में फेंका जा सकेगा

SHARE

बाऱिश के समय मुंबई में जलभराव की समस्या एक आम बात है। बीएमसी मुंबई के कई इलाको में जमे हुए पानी को निकालने के लिए पंपिंग स्टेशन की सहायता लेगी है। सांताक्रुज का गजधर पंपिंग स्टेशन मुंबई के लिए काफी अहम माना जाता है। यह पंपिंग स्टेशन बारिश के पहले शुरु होने की संभावना है। इस पंपिंग स्टेशन के शुरु होने से प्रति सेकंड 36,000 लीटर पानी समुद्र में फेंका जा सकेगा। इस स्टेशन को चालू करने के लिए पहले से ही कई डेडलाइन मिस हो चुकी है।

गजधर बांध पंपिंग स्टेशन इस मानसून के पहले पूरी तरह तैयार हो जाएगा। इसकी नई डेडलाइन 15 मई रखी गई है। इससे पहले जनवरी मध्य तक इसे पूरा करने का लक्ष्य था। पंप लगाने और अन्य तकनीकी काम करीब 65 प्रतिशत हो गया है।इस पंपिंग स्टेशन के चलते सांताक्रुज, बांद्रा, खार, जुहू, जेवीपीडी समेत आस-पास के इलाकों में हर साल बारिश में मुंबईकरों को मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। पंपिंग स्टेशन पूरी तरह शुरू हो जाने के बाद प्रति सेकंड 36,000 लीटर पानी समुद्र में फेंका जा सकेगा।

फरवरी में, बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने एक ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट कर दिया था, जो गजधर पंप स्टेशन पर काम पूरा करने में विफल रहा था। ठेकेदार को 2014 में काम दिया गया था। मुंबई में 2005 में आई भीषण बाढ़ के बाद सात नए पंपिंग स्टेशन बनाने का सुझाव आया था।

यह भी पढ़ेअब मुंबई में सीधे प्रयागराज के लिए शुरु होगी विमान सेवा

संबंधित विषय