टीबी रोकथाम : घर आकर जांच करेंगे बीएमसी स्वास्थ्य कर्मचारी

 Mumbai
टीबी रोकथाम : घर आकर जांच करेंगे बीएमसी स्वास्थ्य कर्मचारी

दिनों दिन बढ़ रहे टीबी के मरीजों को देखते हुए बीएमसी ने यह निर्णय लिया है कि अब बीएमसी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी घर-घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जांच करेंगे। यह जांच 1 से 15 अगस्त के दौरान किया जाएगा और इसके लिए बीएमसी ने लगभग 9 लाख लोगों के स्वास्थ्य की जांच करने का लक्ष्य तय किया गया है। कर्मचारी शाम 4 बजे से रात 8 बजे तक घर-घर जाकर अपना काम करेंगे। इस कार्य के लिए बीएमसी की 327 लोगों की टीम काम कर रही है।

इस बारे में बीएमसी की स्वास्थ्य विभाग की कार्यकारी अधिकारी डॉ.पद्मजा केसकर का कहना है कि टीबी की जांच नियमित रूप से की जा रही है। 1 अप्रैल 2016 से 31 मार्च 2017 के दौरान 17लाख 92 हजार 308 नागरिकों की जांच की गई। लेकिन यह योजना हम 1से15 अगस्त के बीच चलाएंगे।  

यही नहीं अगर किसी व्यक्ति में टीबी के लक्षण पाए जाते हैं तो उनका मुफ्त उपचार किया जाएगा और उन्हें दवाई भी दी जाएगी। इस कार्य के लिए बीएमसी का साथ स्वयंसेवी संगठन भी दे रहे हैं।


अगर किसी को भी 14 दिन से अधिक खांसी आती है और 2 सप्ताह से अधिक समय तक सुबह शाम बुखार रहता है, वजन का घटना, थूक में खून आना जैसे टीबी के लक्ष्ण हैं। यह लक्षण पहचान कर तुरंत बीएमसी के अस्पतालों में सम्पर्क करें और जांच कराएं, यह जाँच मुफ्त है।  

डॉ.दक्षा शाह, उपकार्यकारी आरोग्य अधिकारी, (क्षयरोग)

डॉ. शाह आगे कहती हैं कि अगर जिसे टीबी हुई है अगर वो छह महीने तक लगातार अपना इलाज करवाता है तो टीबी ठीक हो सकती है। उसके लिए संबंधित डॉक्टर के बताए अनुसार दवाई और सलाह लेनी चाहिए।


यह भी पढ़े : मुंबई में डेंगू के मामलों में 265 प्रतिशत वृद्धि हुई


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे)


Loading Comments