हॉस्पिटल, गंदगी और लापरवाह प्रशासन

गोरेगांव - मुंबई को सपनों की नगरी माना जाता है। पर आप सोच भी नहीं सकते कि इसल सपनों की नगरी में अस्पतालों की ये दुर्दशा है। यह है मुंबई स्थित आरे कॉलोनी का अस्पताल इसकी हालत जानवरों के रहने वाली जगह के जैसे है। आरे कॉलोनी में 27 आदीवासी पाडे हैं, पर प्रशासन को इनके हेल्थ की कोई फिक्र नहीं है।

आखिरकार सवाल उठना लाजमी है कि मुंबई जैसे शहर की हालत ये है तो गांव देहात का क्या हाल होगा। सरकार नारे लगा रही है मेरा देश बदल रहा है, आगे बढ़ रहा है। क्या इस तरह ही देश को आगे बढ़ना है?

Loading Comments