पुलिस पत्नियों की मांग को लेकर प्रशासन उदासीन

 Fort
पुलिस पत्नियों की मांग को लेकर प्रशासन उदासीन

सीएसटी - पिछले 32 दिनों से मुंबई पुलिस के कई जवानों की पत्नियां अपने परिवार के न्याय को लेकर आजाद मैदान में उपोषण पर बैठी है। सोमवार को राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बीएमसी में प्रबोधनकार केशव सिताराम ठाकरे के ऑइल पेंटिंग के अनावरण कार्यक्रम में आए थे। लेकिन इस मौके पर भी मुख्यमंत्री ने इन महिलाओं से भेट नहीं की। जिससे पुलिसकर्मियों की पत्नियों में काफी निराशा है। महाराष्ट्र राज्य पुलिस पत्नी संघ की अध्यक्षा यशश्री पाटील का कहना है की जबतक उनकी मांग पूरी नहीं होती तब तक वो अपने उपोषण को जारी रखेंगे।

क्या है पुलिस पत्नियों की मांगें-

1- पुलिसकर्मियों को मतदार संघ, हक का घर मिलना चाहीए। पुलिस के एक बच्चे को सेवा में शामिल किया जाए।

2 - 2011 और उसके बाद अंतरजिला बदली प्रक्रिया सरल होनी चाहिए।

3 - देहांत के बाद वारिश को नौकरी मिलने की प्रक्रिया सरल की जाए।

4 विधवा पुलिस पत्नी को 2 महिनों के अंदर ही लाभ मिलना चाहीए।

5 सेवा निवृत्त पुलिस कर्मचारियों को मुफ्त मेडिकल सुविधाए दी जाए।

6 - 7 वां वेतन आयोग रेवेन्यू विभाग की तरह मिलना चाहिए।

7- पुलिस सोसायटी की ओर से कम दरों पर ब्याज मिले।

8- पुलिसकर्मी पर हमला करनेवालों पर सख्त कार्रवाई हो।

Loading Comments