कालिदास कोलंबकर, लगातार आठवीं बार विधायक बन कर रचा इतिहास

कोलंबकर लगातार आठवीं बार विधानसभा पहुंचने वाले पहले विधायक होंगे जिन्होंने इस रिकॉर्ड को बना कर इतिहास रच दिया।

SHARE


मुंबई के वडाला विधानसभा सीट से एक बार फिर बीजेपी के उम्मीदवार कालिदास कोलंबकर ने जीत हासिल की, और इसके साथ ही कोलंबकर लगातार आठवीं बार विधानसभा पहुंचने वाले पहले विधायक होंगे जिन्होंने इस रिकॉर्ड को बना कर इतिहास रच दिया।  

शिवसेना के साथ अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत करने वाले कोलंबकर ने अब तक तीन बार पार्टी बदल चुके हैं। उनके करीबी बताते हैं कि कोलंबकर की जीत का यूएसपी उनका अपने विधानसभा क्षेत्र के हर आदमी तक पहुंच और काम है। यही कारण है कि उनके विधानसभा क्षेत्र में पार्टी नहीं कोलंबकर का चेहरा मायने रखता है। साल 1990 से लेकर 2004 तक कोलंबकर लगातार चार बार विधायक चुने गये। जब नारायण राणे मुख्यमंत्री थे तब कोलंबकर उस मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री बनाए गये थे।

कांग्रेस के टिकट पर कोलंबकर ने तीन बार जीत दर्ज की,  साल 2014 में मोदी लहर होने के बावजूद भी कोलंबकर ने 700 वोटों के अंतर् से जीत दर्ज की थी। हालांकि उस समय मोदी लहर को देखते हुए कोलंबकर ने कांग्रेस छोड़ भाजपा में प्रवेश किया। कोलंबकर के इस रवैये से शिवसेना नाराज भी हुए। लेकिन एक बार फिर कोलंबकर ने अपना जलवा बिखेरा और कांग्रेस के शिवकुमार लाड को 26,000 से अधिक मतों से हरा कर अपने आलोचकों को करार जवाब दिया।

इस बार कोलंबकर आठवीं बार विधायकी का चुनाव लड़ रहे थे। वे मुंबई के एक मात्र ऐसे विधायक बने जो जीत कर विधानसभा पहुंचेंगे, कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बार उन्हें मंत्री पद भी मिल सकता है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें