Advertisement

अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए 7 सदस्यी समिति की स्थापना

अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने और औद्योगिक और सामाजिक स्थिति बहाल करने के लिए उप मुख्यमंत्री अजीत पवार की अध्यक्षता में आठ कैबिनेट सदस्यों की एक उप-समिति का गठन किया गया है।

अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए 7 सदस्यी समिति की स्थापना
SHARES

कोरोना वायरस संकट को गतिरोध में लाने, स्थिर अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने और औद्योगिक और सामाजिक स्थिति को बहाल करने के लिए उप मुख्यमंत्री अजीत पवार की अध्यक्षता में आठ कैबिनेट सदस्यों की एक उप-समिति का गठन किया गया है।  कोरोना की वजह से अर्थव्यवस्था में काफी गिरावट देखी जा रही है।


अजीत पवार की अध्यक्षता वाली समिति में लोक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण, खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल, जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल, राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात, शहरी विकास मंत्री एकनाथ शिंदे और परिवहन मंत्री अनिल परब शामिल हैं।  इस संबंध में एक सरकारी निर्णय सोमवार को जारी किया गया था।  कोरोना, स्वास्थ्य प्रणाली, पुलिस प्रणाली, स्थानीय स्वशासन के प्रकोप को रोकने के लिए, राज्य में विभिन्न सरकारी निकाय युद्ध के मैदान में काम कर रहे हैं।  समिति उनकी लड़ाई को मजबूत करने के लिए भी काम करेगी।

अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार के लिए समिति


 चूंकि राज्य में 25 मार्च से तालाबंदी हुई है, इसलिए राज्य में अन्य व्यवसाय बंद हो गए हैं।  विनिर्माण, खरीद और बिक्री लेनदेन ठप हो गए हैं।  इससे राज्य की अर्थव्यवस्था पर बड़ा प्रभाव पड़ा है।  इस पृष्ठभूमि के खिलाफ, राज्य की अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने और राज्य को उसकी आर्थिक स्थिति को बहाल करने के लिए छह विशेषज्ञ सदस्यों की एक समिति बनाई गई है।  समिति 20 अप्रैल तक अपनी रिपोर्ट देगी

कैबिनेट समिति समिति द्वारा सुझाए गए उपायों पर भी निर्णय करेगी।  इस समिति में, जे.पी.  एस  सुहानी (सेवानिवृत्त IAS), सुबोध कुमार (सेवानिवृत्त IAS), रमानाथ झा (सेवानिवृत्त IAS), उमेश चंद्र सारंगी (सेवानिवृत्त IAS), जयंत कावले (सेवानिवृत्त IAS), सुधीर श्रीवास्तव (सेवानिवृत्त आईएएस), योजना विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव, उद्योग विभाग के प्रधान सचिव, वित्तीय सुधार विभाग के प्रधान सचिव और कृषि विभाग के सचिव।  वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव इस समिति के समन्वयक के रूप में कार्य करेंगे।


Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें