बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों की जानकारी देने वाले को 5000 हजार रुपए का पुरस्कार, MNS ने मातोश्री के बाहर लगाए पोस्टर

दरअसल यह पोस्टर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना यानी मनसे की तरफ से लगाया गया है। इस तरह के पोस्टर्स सबसे पहले मनसे ने औरंगाबाद शहर में लगाए थे, और अब मुंबई में भी लगाए गये हैं।

बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों की जानकारी देने वाले को 5000 हजार रुपए का पुरस्कार, MNS ने मातोश्री के बाहर लगाए पोस्टर
SHARES

 

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray) के निवास स्थान मातोश्री (matoshree) के बाहर एक पोस्टर लगाया गया है, जिस पर लिखा हुआ है कि राज्य में बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों की जानकारी देने वाले को 5000 हजार रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा। दरअसल यह पोस्टर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना यानी मनसे (MNS) की तरफ से लगाया गया है इस तरह के पोस्टर्स सबसे पहले मनसे ने औरंगाबाद शहर में लगाए थे, और अब मुंबई में भी लगाए गये हैं इससे पहले मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने एक रैली निकालकर घुसपैठियों को बाहर निकालने की मांग की थी


क्या है पोस्टर में?

इस पोस्टर में मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे  (mns chief raj thackeray) की तस्वीर है, साथ ही लिखा गया है कि, घूसखोर हटाओ, देश बचाओ पाकिस्तानी और बाग्लादेशी घूसखोरों की जानकारी देने वालों को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की तरफ से 5000 रुपए दिए जाएंगे



पढ़ें : मनसे ने बांग्लादेशियों के खिलाफ लगाए पोस्टर, कहा - भागो, वर्ना मनसे स्टाइल में भगाएंगे


महाराष्ट्र में पाकिस्तानी और बांग्लादेशी घुसपैठियों के खिलाफ महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) का अभियान जारी है इसके पहले मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने एक रैली में कहा था कि भारत में  गैर-कानूनी रूप से रहने वाले पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान घूसखोरों को उठाकर बाहर फेंक देना चाहिए, क्योंकि वे देश पर अनावश्यक बोझ हैं ये प्रवासी आते हैं और देशभर में फैल जाते हैं राज्यों को उनका बोझ सहना पड़ता है. वे स्थानीय युवाओं की नौकरियां छीन रहे हैं


 यही नहीं राज ठाकरे की रैली के बाद मनसे के कई नेताओं और पदाधिकारी मुंबई और ठाणे के कई इलाकों में पुलिस के साथ जाकर बांग्लादेशी और पाकिस्तानी नागरिकों की पहचान करने के लिए हर घर में रहने वाले लोगों का पहचान पत्र देख रहे हैं


आपको बता दें कि इस समय मोदी सरकार द्वारा लाए गये CAA कानून को लेकर देश भर में विरोध चल रहा है, लेकिन मनसे ने इस कानून का समर्थन किया है


पहले उत्तर भारतियों और अब बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घूसखोरों को लेकर आक्रामक होने वाली मनसे ने अपनी राजनीतिक विचारधार बदलते हुए हिंदुत्व का दामन थामा है, अब देखना होगा कि हिंदुत्व के मुद्दे पर राज ठाकरे वोटों की कितनी फसल काटते हैं?  


पढ़ें : अवैध बांग्लादेशियों के खिलाफ मनसे ने शुरू किया आंदोलन, बस्तियों में कर रहे हैं तलाश

संबंधित विषय