महापौर निवास को लेकर शिवसेना - मनसे आमने सामने

मनसे ने आरोप लगाया है की सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी महापौर आवास पर सरकारी जमीन पर स्मारक बांधा जा रहा है।

SHARE

बालासाहेब ठाकरे स्मारक की जगह को लेकर अब शिवसेना और मनसे आमने खड़े दिख रहे है। मनसे ने आरोप लगाया है की सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी महापौर आवास पर सरकारी जमीन पर स्मारक बांधा जा रहा है। इसके साथ ही मनसे ने इस बात पर भी निराशा जाहीर की है बालासाहेब के लिए कोई भी सरकारी जमीन नहीं मिल रही है जिसके कारण महापौर निवास पर स्मारक बनाया जा रहा है।

 शिवाजी पार्क जिमखाना के पास महापौर निवास का विरोध

बालासाहेब ठाकरे का स्मारक दादर में महापौर कार्यालय में किया जाएगा और महापौर के लिए नया निवास स्थान रानी बाग में बनाया जाएगा। बीएमसी ने शिवाजी पार्क म्युनिसपल जिमखाना में नया महापौर बंगला बनाने का प्रस्ताव रखता है। हालांकि, मनसे ने इसका विरोध किया और राज ठाकरे ने गुरुवार दोपहर बीएमसी मुख्यालय में बीएमसी आयुक्त अजॉय मेहता से मुलाकात की। इस बैठक में राज ठाकरे ने महापौर के बंगले में बालासाहेब ठाकरे में एक स्मारक बनाने का विरोध किया। इसके साथ ही उन्होने फेरीवालों का मुद्दा भी उठाया।

राज ठाकरे ने बीएमसी से अपील करते हुए कहा की मुंबई में महापौर के रहने के लिए जगह नहीं है । अब बीएमसीन शिवाजी पार्क में महापौर निवास का प्रस्ताव रखा है। मनसे इसके बिल्कूल खिलाफ है और शिवाजी पार्क की एक इंच जगह भी नहीं दी जाएगी। राज ठाकरे ने मुलाकात में फेरीवालों का भी मुद्दा उठाया और रेलवे परिसर के 150 मीटर के अंदर बैठे फेरिवालों पर भी कार्रवाई की मांग की और शिवसेना पर भी निशाना साधा।


यह भी पढ़ेबीजेपी के आये अच्छे दिन, बनी सबसे अधिक चंदा पाने वाली राजनीतिक पार्टी

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें