Advertisement

लोग नहीं माने तो लॉकडाउन लगाना ही अंतिम विकल्प: असलम शेख

मीडिया से बात करते हुए असलम शेख ने कहा कि, महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। इसका एक कारण लोगों के मन में कोरोना को लेकर डर कम हुआ है और कोरोना नियमों का पालन करने की उपेक्षा है।

लोग नहीं माने तो लॉकडाउन लगाना ही अंतिम विकल्प: असलम शेख
SHARES

महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना (Covid19) संक्रमण को कम करने के लिए प्रतिबंधों को कड़ा कर दिया है। बावजूद इसके कुछ जगहों पर भीड़ अभी भी जुट रही है और लोग कोरोना नियमो (corona protocol) का पालन करते हुए दिखाई नहीं दे रहे हैं। इसी कड़ी में मुंबई (mumbai) के पालक मंत्री असलम शेख (aslam shaikh) ने कहा कि, अगर लोग कोरोना नियमों का पालन नहीं करते हैं, तो एक पूर्ण तालाबंदी (lockdown) लगाना ही अंतिम उपाय होगा।

मीडिया से बात करते हुए असलम शेख ने कहा कि, महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। इसका एक कारण लोगों के मन में कोरोना को लेकर डर कम हुआ है और कोरोना नियमों का पालन करने की उपेक्षा है। लिहाजा कोरोना को रोकने के लिए प्रतिबंधों को कड़ा करना पड़ा है। लेकिन कुछ सार्वजनिक स्थानों पर अभी भी भीड़ जुट रही है। उन्होंने कहा, नए नियम लागू हुए सिर्फ दो दिन हुए हैं। इसलिए नए नियमों को 

कई लोग अच्छी तरह से नहीं समझ पाए हैं, प्रशासन और पुलिस अभी भी उन्हें लोगों को समझाने की कोशिश कर रही हैं। वर्तमान में मुंबई में लोकल ट्रेन, बसें और अन्य सार्वजनिक परिवहन चालू है। सोमवार से शुक्रवार तक व्यवसाय, उद्योगधंदे शुरू रहते हैं। आप लर लागू किया गया यह नियम अंतिम प्रयोग है। इतना कुछ होने पर भी लोग लापरवाह बने हुए हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा, हर जगह तालाबंदी का विरोध किया जा रहा है। दुनिया में जहां भी लॉकडाउन लागू किया गया है, लोगों ने लॉकडाउन का विरोध किया है। सरकार के लिए लॉकडाउन लगाना अच्छा नहीं है। लेकिन जान बचाना सबसे अहम है। यह हमारी प्राथमिकता है। यदि स्थिति में सुधार नहीं होता है, तो लॉकडाउन का अंतिम निर्णय लेना होगा।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें