फिर साथ आ सकते हैं शिवसेना और बीजेपी- मनोहर जोशी

मंगलवार को उन्हीने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, बीजेपी और शिव सेना दोनों पार्टियों की एक साथ आना चाहिए। यह मेरी व्यक्तिगत राय है

SHARE


महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर जिस तरह से बीजेपी और शिव सेना के बीच एक दूसरे के खिलाफ टकराव हुआ, उसका परिणाम हुआ कि शिव सेना ने बीजेपी का साथ छोड़ कर एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिल गयी और अपना मुख्यमंत्री बना लिया। लेकिन शिव सेना के सीनियर नेता और पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी को लगता है कि बीजेपी और शिवसेना फिर से एक पटरी पर आ सकते हैं। मंगलवार को उन्हीने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, बीजेपी और शिव सेना दोनों पार्टियों की एक साथ आना चाहिए। यह मेरी व्यक्तिगत राय है, लेकिन वर्तमान स्थिति को देखते हुए दोनों पार्टी हाल फ़िलहाल में साथ आएंगे यह मुझे नहीं लगता।


क्या कहा जोशी ने?

पूर्व मुख्यमंत्री ने आगे कहा,'छोटे-छोटे मुद्दों पर लड़ने से अच्छा है कि कुछ बातों को बर्दाश्त किया जाए। जिन मुद्दों को आप दृढ़ता के साथ महसूस करते हैं, उसे साझा करना अच्छा है। अगर दोनों पार्टी एक साथ काम करते हैं तो यह दोनों के लिए अच्छा होगा।' 

जोशी ने कहा, 'ऐसा नहीं है कि शिवसेना अब कभी भी बीजेपी के साथ नहीं जाएगी। उद्धव ठाकरे सही समय पर सही निर्णय लेंगे।'

जोशी का यह बयान समय के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. बता दें कि जहां एक तरफ शिव सेना ने नागरिकता संशोधन बिल (CAB) के समर्थन में वोट देकर अपने सहयोगियों को चौंका दिया था, लेकिन बाद में पार्टी यह कहते हुए पीछे हट गयी कि जब तक सब कुछ स्पष्ट नहीं होगा वह राज्यसभा में कैब का समर्थन नहीं करेगी।  
संबंधित विषय
ताजा ख़बरें