Advertisement

अंडा-चिकन खाने वालों को पशुपालन मिनिस्टर ने दिया महत्वपूर्ण सलाह

सुनील केदार ने कहा कि, परभणी जिले में बर्ड फ्लू के कारण 800 मुर्गियों की मौत हो गई। जिसके बाद जिला प्रशासन को सभी एहतियाती आदेश जारी किए गए हैं।

अंडा-चिकन खाने वालों को पशुपालन मिनिस्टर ने दिया महत्वपूर्ण सलाह
SHARES

महाराष्ट्र (maharashtra) में, कोरोना (coronavirus) संकट के बाद अब बर्ड फ्लू संकट ने दस्तक दी है, जिसने प्रशासन की चिंताएं बढ़ा गई हैं। इस बारे में पशुपालन मंत्री सुनील केदार (sunil kedar) ने चिकन-अंडा खाने वालों को महत्वपूर्ण निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने राज्य में इस बीमारी से बचने के लिए भी उचित सावधानी बरतने की अपील की है।

मीडिया से बात करते हुए, सुनील केदार ने कहा, कि यह वैज्ञानिक रूप से सिद्ध हो चुका है कि अगर अंडे या चिकन को एक निश्चित तापमान पर आधे घंटे तक पकाया जाए तो इसमें से सभी वायरस नष्ट हो जाते हैं।

केदार ने कहा मांस को 30 मिनट तक 70 डिग्री सेंटीग्रेड पर पकाना चाहिए और फिर इसे खाना चाहिए। ताकि किसी प्रकार का कोई खतरा न रहे।

इस बीच, मुंबई में चिकन (chicken price in mumbai) की कीमतें प्रति किलो 10 से 20 रुपये तक कम हो गई हैं। इसके पीछे का कारण उपभोक्ताओं का डर बताया जाता है। बर्ड फ्लू के डर से लोग पोल्ट्री फार्म सहित अन्य मीट उत्पादों से किनारा कर रहे हैं। कई मुर्गी पालन व्यवसायियों ने तो अपनी हजारो मुर्गियों को मौत के घाट उतार दिया है।

सुनील केदार ने कहा कि, परभणी जिले में बर्ड फ्लू के कारण 800 मुर्गियों की मौत हो गई। जिसके बाद जिला प्रशासन को सभी एहतियाती आदेश जारी किए गए हैं। वायरस को आगे फैलने से रोकने के लिए तत्काल उपाय भी किए जा रहे हैं।  हालांकि, मुंबई, ठाणे, दापोली और नागपुर से नमूनों की निरीक्षण रिपोर्ट आना बाकी है। इसके बाद ही यह कहा जा सकेगा कि बर्ड फ्लू कितना फैल गया है।

सुनील केदार ने स्पष्ट किया कि, केंद्र को महाराष्ट्र सरकार को बर्ड फ्लू के नमूनों की जांच करने की अनुमति देनी चाहिए। ताकि भोपाल (bhopal) को हर बार सैंपल नहीं भेजना पड़े।

इससे पहले साल 2006 में भी महाराष्ट्र ने बर्ड फ्लू आया था। इसके बाद भी, राज्य सरकार ने राज्य में पोल्ट्री उद्योग को मदद देने के लिए केंद्र सरकार की प्रतीक्षा नहीं की। सुनील केदार ने यह भी कहा कि, केंद्र को राज्य सरकार के सहयोग की भूमिका में होना चाहिए।

बर्ड फ्लू के संभावित खतरे की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray) ने सोमवार शाम 5 बजे एक बैठक भी बुलाई थी, इस बैठक में राज्य में बर्ड फ्लू को रोकने के लिए किए जा रहे उपायों की समीक्षा की गई।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें