Advertisement

मुंबई: कोरोना वायरस के कुल केसों में 24 फीसदी केस सक्रिय

आंकड़ों के अनुसार, मुंबई में टेस्ट किए गए परीक्षणों में से 23 प्रतिशत पॉजिटिव आये हैं और अब तक मुंबई में 4,33,227 परीक्षण किए जा चुुकेे हैं। डेटा से यह भी पता चलता है कि प्रति 10 लाख लोगों में 33,306 परीक्षण किए जा रहे हैं।

मुंबई: कोरोना वायरस के कुल केसों में 24 फीसदी केस सक्रिय
SHARES

मुंबई शहर में कोरोना वायरस (Coronavirus in mumbai) के मामलों की संख्या तेजी से वृद्धि रही है।  वर्तमान में, मुंबई में एक लाख से अधिक COVID-19 के मामले हैं, जिसमें से 24,039 मामले सक्रिय हैं। इनमें से 16,541 मामले असिम्प्टोमैटिक यानी स्पर्शोन्मुख थे और 6128 मामले सिंटोमैटिक यानी रोगसूचक और 1370 मामले गंभीर थे।

आंकड़ों के अनुसार, मुंबई में टेस्ट किए गए परीक्षणों में से 23 प्रतिशत पॉजिटिव आये हैं और अब तक मुंबई में 4,33,227 परीक्षण किए जा चुुकेे हैं। डेटा से यह भी पता चलता है कि प्रति 10 लाख लोगों में 33,306 परीक्षण किए जा रहे हैं।

अगर केसों के डबलिंग रेट यानी दोहरेकरण की बात करें तो वार्ड RC में सबसे डबलिंग रेट 28 दिनों की है, जबकि वार्ड H-East में डबलिंग रेट 128 दिनों की है। 18 जुलाई तक, मुंबई में डबलिंग रेट 55 दिनों की थी, जिसमें से 16 वार्डों में 50 दिनों से अधिक की दोहरीकरण दर यानी डबलिंग रेट थी। इसके अलावा, कुल मामलों में से, 70 प्रतिशत रोगियों को छुट्टी दे दी गई है और 6 प्रतिशत मामलों में संक्रमण के कारण मृत्यु हो गई है।

कोरोना (Covid-19) मामलों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए, बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC) ने शहर में 6,000 से अधिक भवनों को सील कर दिया है और मुंबई में कुल 691 क्षेत्रों को कंटेन्मेंट जोन (जिसमें झुग्गी और चॉल शामिल हैं) के रूप में चिह्नित किया गया है। बीएमसी द्वारा स्थापित कॉल सेंटर को कोरोनो वायरस संबंधित प्रश्नों के संबंध में अब तक कुल 1,98,567 कॉल प्राप्त हो चुके हैं।

वार्ड M-ईस्ट के 691 सक्रिय कंटेंनमेंट जोन (Contentment zone) में से, 75 रेड जोन को सील किया गया है, इसके बाद वार्ड-L में 74 और वार्ड S में 69 रेड जोन को सील किया गया है। इसके अलावा, मुंबई में कुल 6,163 इमारतें सील हैं, जिनमें से वार्ड R-Central में 777 इमारतें, वार्ड K-East में 716 इमारतें, और वार्ड R-South में 557 इमारतें सील हैं।

शहर में K-East वार्ड में शहर में सबसे अधिक मरीज हैं, जिसके बाद वार्ड P-North और उसके बाद वार्ड G-North में मरीजों की संख्या सबसे अधिक है। जहां क्रमशः के-ईस्ट में 6,590 मरीज, पी-नॉर्थ में 6220 और जी-नॉर्थ में 6,001 मरीज हैं।

इसके अलावा, मुंबई शहर में कोरोना वायरस मामलों की औसत वृद्धि दर वर्तमान में 1.6 प्रतिशत है।  सभी वार्डों में से, आर-सेंट्रल में 2.5 प्रतिशत की उच्चतम विकास दर है, इसके बाद वार्ड डी, आर-दक्षिण और वार्ड टी में 1.9 प्रतिशत है।

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय